पतंजलि मोटा होने की दवा हिंदी | Patanjali Mota Hone Ki Dawa Hindi

पतंजलि मोटा होने की दवा हिंदी में (Patanjali Mota Hone Ki Dawa Hindi) : जब शरीर मोटा हो जाता है, तो कई बीमारियों से पीड़ित होने की संभावना बढ़ जाती है। इसी तरह बहुत पतला शरीर भी अस्वस्थ होने की निशानी है। एक स्वस्थ शरीर की तुलना में अधिक कमजोर शरीर जल्दी रोगग्रस्त हो सकता है।

अक्सर दुबले-पतले लोग अपना वजन बढ़ाने या मोटा होने के लिए कई उपाय करते हैं, लेकिन उन्हें पूरी सफलता नहीं मिल पाती है। दुबले-पतले होने की वजह से लोगों को कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है या उन्हें शर्मिंदगी का सामना करना पड़ता है। वजन बढ़ाने या मोटा होने के लिए आप यहां बताए गए घरेलू उपाय (मोटा होने का तारिका) कर सकते हैं।

वजन का बढ़ना क्या है? (What is Weight Gaining)

शरीर के वजन में वृद्धि को वजन बढ़ना कहा जाता है। वजन बढ़ना तब होता है जब किसी व्यक्ति की शारीरिक गतिविधि उसके द्वारा उपभोग की जाने वाली कैलोरी से कम होती है। यह शरीर में वसा या अतिरिक्त तरल पदार्थ के जमा होने के कारण होता है। आमतौर पर वजन बढ़ना कोई समस्या नहीं है।

वजन के बढ़ने का कारण (Weight Gaining Causes in Hindi)

 इन कारणों से वजन में बढ़ोतरी होने लगती है:

  • हार्मोनल असंतुलन के कारण।
  • शारीरिक गतिविधि का अभाव।
  • बार-बार कुछ न कुछ खाने की आदत।
  • थायराइड से संबंधित समस्या (हाइपोथायरायडिज्म के कारण)।
  • अवसाद। उच्च तनाव में व्यक्ति को अधिक खाने की आदत हो जाती है।
  • अधिक तैलीय, वसायुक्त और बासी भोजन (मोटा होने का उपय), जंक फूड, संरक्षक युक्त आहार का सेवन।
  • अधिक भोजन करना लेकिन गतिहीन जीवन शैली रखना। यदि आप बड़ी मात्रा में, या वसायुक्त भोजन का सेवन करते हैं, लेकिन पूरे दिन बैठना पड़ता है, तो आपका वजन तेजी से बढ़ सकता है।

जल्दी मोटा होने के उपाय

दोस्तों पतंजलि मोटा होने की दवा हिंदी के बारे में तो अब आप जान चुके है पर जैसा की मैंने आप से शुरू में ही कहाँ था की पतंजलि मोटा होने की दवा हिंदी भले ही शारीरिक कमजोरी और दुबलेपन को कम करने में कारगर हो, लेकिन आपको अपने खान-पान और जीवनशैली का भी ध्यान रखना होगा।

तो चलिए जल्दी मोटा होने के उपाय में यह जान लेते है की आप को मोटा होने के लिए क्या खाना चाहिये:

1. अंकुरित अनाज

अगर आप रोजाना अंकुरित चना, गेहूं, सोयाबीन आदि का सेवन करेंगे तो आपको भरपूर प्रोटीन मिलेगा। रोजाना 100 ग्राम अंकुरित अनाज खाने से आपको 11 ग्राम प्रोटीन मिलेगा, जो आपकी दिनचर्या में काफी होगा।

2. दूध और केला

केला एक ऐसा फल है, जो खाने के तुरंत बाद आपको एनर्जी देता है। अगर आप रोज सुबह शाम एक गिलास दूध और 2 केले खाएंगे तो आपका वजन जरूर बढ़ेगा। 100 ग्राम दूध में 8.2 ग्राम प्रोटीन और 2 ग्राम फैट होता है। साथ ही केले में कार्बोहाइड्रेट होते हैं, जो आपको दिनभर एनर्जी देते हैं।

3. उबला अंडा और आमलेट

दुबले-पतले लोगों को रोजाना उबला अंडा और अंडे का आमलेट जरूर खाना चाहिए। यह वजन बढ़ाने में काफी कारगर है। अगर आप रोजाना 3 से 4 अंडे का सेवन करते हैं तो आपको 20 ग्राम प्रोटीन और 20 ग्राम फैट एनर्जी के रूप में मिलेगा। इसलिए आपको कोशिश करनी चाहिए कि आप रोजाना इतने अंडे जरूर खाएं।

4. पनीर परांठा और मक्खन

पनीर वैसे भी कई लोगों की पसंदीदा डिश होती है। पनीर को कई रूपों में खाया जाता है. जो लोग अपना वजन बढ़ाना चाहते हैं, उन्हें आज से ही सुबह के नाश्ते में पनीर पराठा और मक्खन को बिना देर किए अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए। इससे अच्छा नाश्ता किसी व्यक्ति के लिए वजन बढ़ाने के लिए नहीं हो सकता। 2 पनीर के परांठे और 1 चम्मच मक्खन में 25 ग्राम प्रोटीन और 22 ग्राम फैट होता है, जो पूरे दिन के लिए पर्याप्त है।

5. ड्राई-फ्रूट्स

ड्राई फ्रूट्स, जिन्हें ड्राई फ्रूट्स के नाम से भी जाना जाता है, वजन बढ़ाने में काफी असरदार होते हैं। सूखे मेवों में बादाम, काजू, किशमिश, खजूर, खजूर, पिस्ता, अखरोट, मनुका, मूंगफली आदि शामिल हैं। आम आदमी को भी रोजाना कम से कम एक मुट्ठी सूखे मेवे खाने चाहिए। ये हमारे शरीर में प्रोटीन की कमी को पूरा करते हैं।

6. शुद्ध देसी घी

हमें शुद्ध देसी गी के फायदे बताने की जरूरत नहीं है। आप खुद भी जानते होंगे कि ये शुद्ध देसी घी वजन बढ़ाने में कितनी मदद करता है। जब भी कोई महिला गर्भवती होती है तो उसे ज्यादा से ज्यादा देसी घी खाने को कहा जाता है क्योंकि देसी घी मां और बच्चे के लिए बहुत अच्छा होता है। ये न सिर्फ शरीर में जान लाते हैं, इसके साथ ही चर्बी भी बढ़ती है।

7. चिकन, मटन और मछली

चिकन, मटन और मछली सबसे अधिक प्रोटीन और वसा के स्रोत हैं। जिसके 100 ग्राम के सेवन से आपको लगभग 28 ग्राम प्रोटीन और 20 ग्राम फैट मिलता है। तो आइए बिना देर किए कमजोर और दुबले शरीर को मोटा और स्वस्थ बनाने के लिए इन स्वादिष्ट व्यंजनों का उपयोग करते हैं।

Also Read:

पतंजलि मोटा होने की दवा हिंदी (Patanjali Mota Hone Ki Dawa Hindi)

Patanjali स्पेशल च्यवनप्राश केसर

Patanjali स्पेशल च्यवनप्राश केसर

पतंजलि मोटा होने की दवा हिंदी में पतंजलि च्यवनप्राश सबसे अच्छा वजन बढ़ाने वाले टॉनिक में से एक है, इसमें कई ऐसी शक्तिशाली दवाओं का मिश्रण होता है जो मांसपेशियों को मजबूत करने के साथ-साथ हड्डियों को भी मजबूत बनाता है।

इसके अलावा यह पाचन तंत्र में सुधार करके भूख को भी बढ़ाता है, कुछ लोग पतंजलि की भूख बढ़ाने वाली दवा के बारे में पूछते हैं, हम ऐसे लोगों को यह दवा लेने की सलाह देते हैं।

जब भूख बढ़ती है तो व्यक्ति अपने आप अधिक खाता है और जब कोई व्यक्ति अधिक खाता है तो उसकी कैलोरी की मात्रा स्वाभाविक रूप से बढ़ जाती है, वजन भी बढ़ जाता है।

Baidyanath बसंत कुसुमाकर रस

Baidyanath बसंत कुसुमाकर रस
Baidyanath बसंत कुसुमाकर रस

पतंजलि मोटा होने की दवा हिंदी में वसंत कुसुमाकर रस पतंजलि मेद कैप्सूल के रूप में आता है। वजन बढ़ाने के साथ-साथ यह दवा याददाश्त और मानसिक स्वास्थ्य में सुधार के लिए सबसे अच्छी मानी जाती है।

वसंत कुसुमाकर रस बढ़ते वजन के साथ-साथ रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है, जिससे शरीर के स्वास्थ्य को बीमारियों से नुकसान नहीं पहुंचता है।

Disclaimer : यह लेख केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए हैं। यहाँ पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए। चिकित्सा परीक्षण और उपचार के लिए हमेशा एक योग्य चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए। HindiQueries.Com इस जानकारी की जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Conclusion

मैं उम्मीद करता हूँ कि अब आप लोगों को पतंजलि मोटा होने की दवा हिंदी (Patanjali Mota Hone Ki Dawa Hindi) से जुड़ी सभी जानकरियों के बारें में पता चल गया होगा। यह लेख आप लोगों को कैसा लगा हमें कमेंट्स बॉक्स में कमेंट्स लिखकर जरूर बतायें। साथ ही इस लेख को दूसरों के जरूर share करें, ताकि सबको इसके बारे में पता चल सके। धन्यवाद!

Leave a Comment

x