हार्मोन की कमी कैसे दूर करे? | How To Overcome Hormone Deficiency

हार्मोन की कमी कैसे दूर करे?: हार्मोन हमारे शरीर में बनने वाले एक प्रकार के रसायन होते हैं जो रक्त के माध्यम से शरीर के अंगों और ऊतकों तक पहुंचते हैं। वे शरीर में अंतःस्रावी ग्रंथियों से स्रावित होते हैं और शरीर में विभिन्न कार्यों को प्रभावित करते हैं, जैसे कि विकास, चयापचय, यौन गतिविधि, प्रजनन और मिजाज। हार्मोन की थोड़ी मात्रा भी अधिक प्रभावी होती है, वे लंबे समय तक शरीर में जमा नहीं हो सकती हैं।

हार्मोन की कमी कैसे दूर करे? | How To Overcome Hormone Deficiency
हार्मोन की कमी कैसे दूर करे? | How To Overcome Hormone Deficiency

मूड में बदलाव, प्रकाश के प्रति संवेदनशीलता, तैलीय त्वचा और बाल, खाने का मन नहीं करना, नींद न आना, चिंता, तनाव और चिड़चिड़ापन सभी हार्मोनल परिवर्तन के संकेत हो सकते हैं। गर्भावस्था, पीरियड्स और मेनोपॉज के दौरान हार्मोन का यह संतुलन बिगड़ जाता है। लेकिन यह केवल एक विशेष उम्र तक ही सीमित नहीं है। आजकल की भागदौड़ भरी दिनचर्या और तनावपूर्ण जीवनशैली के कारण कम उम्र में महिलाओं में यह समस्या काफी देखने को मिलती है।

हार्मोन के इस असंतुलन को सामान्य करना मुश्किल नहीं है। खास बात यह है कि इस काम को आप प्राकृतिक नुस्खों की मदद से भी कर सकते हैं। इसका फायदा यह है कि इस तरह आपकी सेहत कई साइड इफेक्ट से भी सुरक्षित रहती है। तो चलिए आज के इस आर्टिकल में हार्मोन की कमी कैसे दूर करे (How To Overcome Hormone Deficiency) इस बारे में विस्तार से जानते है.

हार्मोन की कमी कैसे दूर करे? | How To Overcome Hormone Deficiency

हार्मोन की कमी कैसे दूर करे?, यह जानने के लिए निम्न उपायों को पढ़े.

1. अलसी का सेवन करें

अलसी के बीज अच्छी सेहत के लिए काफी उपयोगी साबित होते हैं। ये फाइबर, ओमेगा-3 फैटी एसिड आदि से भरपूर होते हैं। अलसी ब्लड शुगर को सामान्य रखने और दिल को स्वस्थ रखने में मदद करती है। विभिन्न अध्ययनों से यह स्पष्ट हो गया है कि उनके शरीर में प्रोजेस्टेरोन और एस्ट्रोजन हार्मोन का स्तर उन महिलाओं द्वारा संतुलित किया जाता है जो नियमित रूप से अलसी का सेवन करती हैं। अलसी को पीसकर आप इसके पाउडर को कई तरह से अपने आहार का हिस्सा बना सकते हैं।

2. पेय पदार्थ सावधानी से पिएं

शराब, कैफीन और शर्करा युक्त पेय हमारे शरीर में हार्मोन के संतुलन को बिगाड़ सकते हैं, क्योंकि वे हार्मोन कोर्टिसोल के उत्पादन को बढ़ाते हैं, जो अंडाशय के कामकाज को प्रभावित करता है। प्यास लगे तो सादा पानी या नारियल पानी पिएं। एनर्जी चाहिए तो ग्रीन टी पिएं। इसमें कैफीन और अमीनो एसिड L-theanine की सही मात्रा होती है, जो ब्रेन फंक्शन को उत्तेजित करता है।

Also Read:

3. तनाव को बेहतर तरीके से प्रबंधित करें

तनाव का हमारे जीवन पर चौतरफा प्रभाव पड़ता है। अक्सर हम तनाव में अपने स्वास्थ्य की उपेक्षा करते हैं, प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों का सेवन करना शुरू कर देते हैं और पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं। तनाव के कारण शरीर अधिक कोर्टिसोल हार्मोन का उत्पादन करता है, जिससे थकान होती है। ऐसा होने पर शरीर की बीमारियों से लड़ने की क्षमता कम हो जाती है और आपका हार्मोनल बैलेंस बिगड़ने लगता है। तनाव दूर करने के लिए गर्म पानी से नहाएं, टहलें और योग करें।

4. डेयरी उत्पाद बुद्धिमानी से चुनें

डेयरी उत्पाद पोषक तत्वों का खजाना हैं। लेकिन, यदि आप एक हार्मोनल असंतुलन से गुजर रहे हैं, तो आपको डेयरी उत्पादों, विशेष रूप से दही और क्रीम का सेवन करने से पहले दो बार सोचना चाहिए। एक अध्ययन से पता चला है कि डेयरी उत्पादों के सेवन से कुछ हार्मोन का स्तर कम हो जाता है।

5. जड़ी-बूटियां भी हैं असरदार

विटामिन-सी, बी-5, एलुथेरो और रोडियोला ऐसी जड़ी-बूटियां हैं जो ऊर्जा देती हैं। वे न्यूरोट्रांसमीटर का समर्थन करते हैं और तनाव से राहत देने वाले हार्मोन के स्राव को बढ़ाते हैं। वे शरीर में हार्मोन का प्राकृतिक संतुलन बनाने में मदद करते हैं। मैका एक और शक्तिशाली जड़ी बूटी है जो रजोनिवृत्ति के लक्षणों से राहत दिलाती है। इसके सेवन से रात में पसीना आना या अचानक गर्मी का अहसास जैसी समस्याओं से राहत मिलती है। यह स्वस्थ लिपिड को बढ़ाने में मदद करता है। अपनी ग्रीन टी में मैका पाउडर मिलाकर पिएं और हार्मोन को प्राकृतिक रूप से संतुलित करें।

6. योग और व्यायाम करेंगे काम

नियमित रूप से योग और व्यायाम करने के लाभों को नकारा नहीं जा सकता। यह शरीर में रक्त परिसंचरण में सुधार करता है, हैप्पी हार्मोन एंडोर्फिन के स्राव को बढ़ाता है, शरीर के सामान्य वजन को बनाए रखता है और अच्छे हृदय स्वास्थ्य को बनाए रखता है। व्यायाम व्यक्ति के लिए प्राकृतिक औषधि है। इससे शरीर में कोर्टिसोल हार्मोन की मात्रा कम होती है और तनाव दूर करने में मदद मिलती है। सप्ताह में कम से कम 150 मिनट के लिए हल्का एरोबिक व्यायाम करें।

7. नींद पूरी लें

जब हम सो रहे होते हैं तो दिमाग शरीर को डिटॉक्सीफाई करता है, इसलिए रोजाना कम से कम आठ घंटे की नींद जरूर लें। इससे शरीर में कोर्टिसोल, मेलाटोनिन, सोमाट्रोपिन जैसे हार्मोन संतुलित रहते हैं। हमेशा अंधेरे कमरे में सोएं, जहां फोन, लैपटॉप या टीवी स्क्रीन से नीली रोशनी न हो।

Disclaimer : यह लेख केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए हैं। यहाँ पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए। चिकित्सा परीक्षण और उपचार के लिए हमेशा एक योग्य चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए। HindiQueries.Com इस जानकारी की जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Conclusion

मैं उम्मीद करता हूँ कि अब आप लोगों को हार्मोन की कमी कैसे दूर करे (How To Overcome Hormone Deficiency) से जुड़ी सभी जानकरियों के बारें में पता चल गया होगा। यह लेख आप लोगों को कैसा लगा हमें कमेंट्स बॉक्स में कमेंट्स लिखकर जरूर बतायें। साथ ही इस लेख को दूसरों के जरूर share करें, ताकि सबको इसके बारे में पता चल सके। धन्यवाद!

Leave a Comment

x