Anar Khane Ke Fayde | अनार खाने के फायदे

Anar Khane Ke Fayde – हम सभी जानते हैं कि अनार खाना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। खास बात यह है कि इसका स्वाद बहुत ही अच्छा होता है। जिस वजह से बच्चे भी इसे आराम से खाते हैं। यह फाइबर, विटामिन सी और के का बेहतरीन स्रोत है। इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स के भी कई फायदे हैं।

अनार के छोटे-छोटे दाने रस से भरे होते हैं, लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि यह एक ऐसा फल है जिसके बीज और छिलके में भी कई गुण होते हैं। अनार का सेवन करने से हृदय संबंधी रोग दूर होते हैं। यह कैंसर होने की संभावना को भी रोकता है। इम्यून सिस्टम को बूस्ट करता है और सेक्स लाइफ को खुशनुमा बनाता है।

Anar Khane Ke Fayde | अनार खाने के फायदे
Anar Khane Ke Fayde | अनार खाने के फायदे

एक ओर जहां इसके कई स्वास्थ्य लाभ हैं, वहीं इसका उपयोग सुंदरता बढ़ाने के लिए भी किया जाता है।

अनार में बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करने का खास गुण होता है। रोजाना अनार का जूस पीने से चेहरे पर निखार आता है। साथ ही यह मुंहासों और पिंपल्स की समस्या में भी फायदेमंद होता है। इसके अलावा अनार खाने के और भी कई फायदे हैं जिनके बारे में बहुत कम लोगों को पता होगा.

तो यदि आप भी अनार खाने के फायदे (Anar Khane Ke Fayde) जानना चाहते है तो इस पोस्ट को आगे पढ़ते रहे.

Also Read: How To Weight Gain In Hindi

अनार क्या है? (What is Pomegranate in Hindi?)

स्वाद में अंतर होने के कारण अनार की तीन किस्में पाई जाती हैं।

  1. देशी अनार खट्टे-मीठे होते हैं।
  2. कन्धार के अनार मीठे होते हैं।
  3. काबुल अनार भी मीठे होते हैं। काबुली अनारों में एक गुठली रहित अत्यन्त मीठा अनार होता है, जिसे बेदाना अनार कहते हैं। यह सबसे अच्छा होता है। फल की तुलना में कली, और छिल्के में अधिक गुण पाए जाते हैं।

रस में अंतर के अनुसार भी अनार फल तीन प्रकार के होते हैः-

  1.  मीठे रस वाला अनार
  2. खट्टे रस वाला अनार
  3. मीठा-खट्टा रस वाला अनार

Also Read: Motapa Kam Karne Ke Upay

अन्य भाषाओं में अनार के नाम (Name of Pomegranate in Different Languages)

अनार का वानस्पतिक नाम प्यूनिका ग्रैनेटम् (Punica granatum L., Syn-Punica nana Linn., Punica, spinosa Lam,) है, और यह प्यूनिकैसी (Punicaceae) कुल का है। अनार को दुनिया भर में अनेक नामों से जाना जाता है, जो ये हैंः-

  • Name of Pomegranate in Hindi (pomegranate in hindi)– अनार, दाड़िम
  • Name of Pomegranate in Urdu– गुल अनार (Gul anar)
  • Name of Pomegranate in English (anar meaning in english)– ऐपल ऑफ ग्रेनाडा (Apple ofGrenada), पोमग्रेनेट ( Pomegranate)
  • Name of Pomegranate in Sanskrit– दाडिम, करक, रक्तपुष्पक, लोहितपुष्पक, दलन
  • Name of Pomegranate in Oriya– दालिम (Dalim), दालिम्बो (Dalimbo)
  • Name of Pomegranate in Uttarakhand– दाड़िम (Dadim)
  • Name of Pomegranate in Assamese– डालिम (Dalim)
  • Name of Pomegranate in Kannada– दालिम्बे (Dalimbe), हुलिडलिम्बे (Hulidalimbe)
  • Name of Pomegranate in Konkani– दालिम्ब (Dalimb)
  • Name of Pomegranate in Gujarati– दाड़म (Dadam), गुलनार (Gulnar)
  • Name of Pomegranate in Tamil (pomegranate benefits in tamil)- मादलै (Madalai), मडुलै (Madulai), मडलम (Madlam)
  • Name of Pomegranate in Telugu– दालिम्बकाया (Dalimbkaya)
  • Name of Pomegranate in Bengali– दाड़िम गाछ (Dadim Gachh)
  • Name of Pomegranate in Punjabi– दारूण (Darun), धारू (Dharu), जामन (Jaman)
  • Name of Pomegranate in Malayalam– मातलम (Matalam), दाड़िमन (Dadiman)
  • Name of Pomegranate in Marathi (pomegranate in marathi)– दालिम्बा (Dalimba)
  • Name of Pomegranate in Nepali– अनार (Anar)
  • Name of Pomegranate in Arabic– रूमन (Rumman)
  • Name of Pomegranate in Persian– अनार (Anar), दरख्तेगुलनार (Darakhtegulnar)

Also Read: नींबू से दांत कैसे साफ करें

अनार खाने के फायदे (Benefits Of Anar In Hindi)

Anar Khane Ke Fayde In Hindi – आयुर्वेद में अनार को बहतु ही चमत्कारिक फल बताया गया है, और यह भी बताया गया है कि, इसके इस्तेमाल से कई सारी बीमारियों को ठीक किया जा सकता है। केवल अनार फल ही नहीं, बल्कि पूरा वृक्ष ही औषधीय गुणों से भरपूर होता है। जब अनार में इतनी खूबियां हैं, तो आप अनार के फायदे के बारे में जरूर जानना चाहेंगे। आइए जानते हैं कि अनार के फायदे (anar khane ke fayde) क्या-क्या हैं।

अनार खाने के फायदे (Anar Khane Ke Fayde) निम्नलिखित है:

1. तेज धूप से सुरक्षा

अनार त्वचा को सूरज की हानिकारक यूवी किरणों से बचाने का काम करता है। अनार के छिलकों में सन-ब्लॉकिंग एजेंट होते हैं जो प्राकृतिक तरीके से त्वचा की रक्षा करते हैं।

2. एंटी-एजिंग गुण

अनार में उच्च मात्रा में विटामिन ए, ई और सी होता है। ये विटामिन उम्र बढ़ने के शुरुआती लक्षणों को रोकते हैं। यह त्वचा पर महीन रेखाओं और झुर्रियों को जल्दी दिखने से रोकता है।

Also Read: दांत साफ करने का तरीका

3. नई कोशिकाओं के निर्माण में

अनार त्वचा की ऊपरी परत को सुरक्षित रखने का काम करता है। इसके साथ ही यह कोशिकाओं के निर्माण में भी अहम भूमिका निभाता है। जिससे चेहरे पर ग्लो आता है।

4. मॉइस्चराइज करने के लिए

अनार त्वचा को हाइड्रेट रखने का काम करता है। अनार के बीजों से निकाले गए तेल के प्रयोग से त्वचा कोमल और कोमल बनी रहती है।

Also Read: खांसी का इलाज घरेलू

5. एक्ने और पिंपल्स की समस्या में

अनार विटामिन सी का बहुत अच्छा स्रोत है। अनार का रस पीने से पाचन में सुधार होता है। साथ ही इसका एंटी-ऑक्सीडेंट गुण मुंहासों और पिंपल्स की समस्या को दूर रखने में फायदेमंद होता है।

6. एक क्लीनर के रूप में

अनार के छिलके को पीसकर चेहरे पर मालिश करने से मृत त्वचा साफ हो जाती है। साथ ही ब्लैकहेड्स की समस्या भी दूर हो जाती है। आप चाहें तो इसे ब्राउन शुगर और शहद के साथ मिलाकर भी लगा सकते हैं।

7. अनार के सेवन से एनीमिया और पीलिया में फायदा

  • एनीमिया और पीलिया के इलाज के लिए 250 मिलीलीटर अनार के रस में 750 ग्राम चीनी मिलाकर चाशनी बना लें। इसका सेवन दिन में 3-4 बार करें। यह रक्ताल्पता और पीलिया में लाभकारी है।
  • बहुत से लोग थकान और कमजोरी की शिकायत करते हैं। ऐसे लोग 20 ग्राम अनार के ताजे पत्ते लेकर 400 मिलीलीटर पानी में उबाल लें। जब 100 मिलीलीटर पानी रह जाए तो उसमें गर्म दूध मिलाकर पीएं। इससे शारीरिक और मानसिक दुर्बलता (अनार लाभ) दूर होती है।
  • एनीमिया और पीलिया से पीड़ित लोगों को अनार के 3-6 ग्राम पत्तों को छाया में सुखाना चाहिए। इस चूर्ण को सुबह गाय के दूध से बनी छाछ के साथ पिएं। इसी तरह शाम के समय इस छाछ के साथ पनीर का सेवन करें. यह रक्ताल्पता और पीलिया रोग में लाभकारी है।

Also Read: लंबाई बढ़ाने के घरेलू उपाय

8. अनार के सेवन से दस्त पर रोक

  • दस्त को रोकने के लिए अनार के फल के छिलके का 2-3 ग्राम चूर्ण बना लें। इसे सुबह-शाम ताजे पानी के साथ पिएं। अतिसार में लाभ होता है।
  • अनार की छाल (फल या जड़ की छाल) के 1 ग्राम चूर्ण में जायफल का चूर्ण और 250 मिलीग्राम केसर को बराबर मात्रा में मिलाएं। इसे पीसकर शहद के साथ सेवन करें। दस्त रुक जाता है।

9. गंजेपन का इलाज

बालों के झड़ने या गंजेपन की समस्या में अनार के ताजे हरे पत्तों का रस पीने से लाभ मिलता है। इसमें 100 ग्राम अनार के पत्तों का पेस्ट और आधा लीटर सरसों का तेल मिलाएं। इस तेल को पकाकर छान लें। इसे बालों पर लगाएं। इससे बालों का झड़ना बंद हो जाता है, गंजेपन की समस्या दूर हो जाती है।

10. हिचकी का इलाज

अनार के फायदे हिचकी की समस्या में पाए जाते हैं। इसके लिए 20 मिलीलीटर अनार के रस में छोटी इलायची के दाने, वंशलोचन, सूखा पुदीना, जहरमोहरा खटाई मिलाएं। इसके साथ ही 1-1 ग्राम अगरू और 500 मिलीग्राम पिप्पली को मिलाकर बारीक चूर्ण बना लें। इसे आवश्यकतानुसार थोड़ा-थोड़ा करके चाटने से हिचकी ठीक हो जाती है।

अनार के उपयोगी भाग (Useful Parts of Pomegranate)

अनार (anaar) का इस्तेमाल इस तरह से किया जा सकता हैः-

  1. फूल (Anar flower)
  2. फल (dalim fruit)
  3. बीज (Anar seeds)
  4. अनार के पौधे के पत्ते
  5. अनार के पौधे के तने
  6. अनार के फल के छिलके
  7. अनार के पेड़ की छाल

अनार का इस्तेमाल कैसे करें?

अनार का सेवन इतनी मात्रा में किया जा सकता हैः-

  • चूर्ण- 2-4 ग्राम
  • रस- 20-40 मिली

बीमारियों में अनार का पूरा लाभ लेने के लिए चिकित्सक से परामर्श जरूर लें।


Disclaimer: सलाह यह लेख केवल सामान्य जानकारी प्रदान करता है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या डॉक्टर से सलाह लें। HindiQueries.Com इस जानकारी की जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Leave a Comment

x