Sangya Ke Kitne Bhed Hote Hain | संज्ञा के कितने भेद होते हैं?

संज्ञा की परिभाषा, संज्ञा के कितने भेद होते हैं, संज्ञा के भेद, संज्ञा किसे कहते हैं, संज्ञा के भेद, Sangya ki paribhasha, Sangya kise kahte hain, Sangya in Hindi, Sangya ke kitne bhed hote hain, Sangya ke bhed

दोस्तों यदि आप भी जानना चाहते हैं कि संज्ञा किसे कहते हैं (Sangya kise kahte hain)। और संज्ञा के कितने भेद होते हैं (Sangya ke kitne bhed hote hain) तो यह लेख पढ़ने के बाद आप लोगों को पता चल जायेगा कि संज्ञा के कितने भेद होते हैं (Sangya ke kitne bhed hote hain)।

संज्ञा किसे कहते हैं? (Sangya kise kahte hain)

किसी व्यक्ति, वस्तु, प्राणी, स्थान, गुण, जाति या भाव, दशा आदि के नाम को संज्ञा (Noun) कहते हैं। वास्तव में संज्ञा का शाब्दिक अर्थ है — सम+ज्ञा अर्थात सही ज्ञान कराने वाला। संज्ञा का दूरा पर्याय है। उदाहरण – जैसे- मोबाइल, टीवी (वस्तु), गाँव, कॉलेज (स्थान), आदमी, पशु (प्राणी) आदि।

यह भी जानें :- नीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए?

संज्ञा के कितने भेद होते हैं? (Sangya Ke Kitne Bhed Hote Hain)

संज्ञा के मुख्य रूप से पांच भेद होते हैं:–

  1. व्यक्तिवाचक संज्ञा (Proper Noun)
  2. जातिवाचक संज्ञा (Common Noun)
  3. द्रव्यवाचक संज्ञा (Material Noun)
  4. भाववाचक संज्ञा (Abstract Noun)
  5. समूहवाचक संज्ञा (Collective Noun)

1. व्यक्तिवाचक संज्ञा (Proper Noun)

वे शब्द जो किसी एक व्यक्ति, वस्तु, स्थान आदि का बोध करवाता है उसे व्यक्तिवाचक संज्ञा कहते है। उदाहरण – राम (नाम), मोबाइल (वस्तु), आजमगढ़ (स्थान) आदि।

2. जातिवाचक संज्ञा (Common Noun)

वे शब्द जो किसी व्यक्ति, वस्तु या स्थान की संपूर्ण जाति का बोध कराते हैं, उन शब्दों को जातिवाचक संज्ञा कहते हैं। यानी, जातिवाचक संज्ञा शब्दों से एक जाति के अंतर्गत आने वाले सभी व्यक्तियों, वस्तुओं व स्थानों का बोध होता है। उदाहरण – लड़का , लड़की , नदी , पर्वत आदि।

3. द्रव्यवाचक संज्ञा (Material Noun)

जिस संज्ञा शब्दों से किसी धातु , द्रव्य , सामग्री , पदार्थ आदि का बोध हो , उसे द्रव्यवाचक संज्ञा कहते है। उदाहरण – गेहूं, चावल, सोना, चाँदी आदि।

4. भाववाचक संज्ञा (Abstract Noun)

जब किसी विशेष व्यक्ति के भाव, किसी विशेष व्यक्ति के गुणों, या किसी विशेष प्राणियों के गुणों, या प्राणियों के भावों, या किसी विशेष स्थान के भाव, आदि का बोध कराया जाए उसे भाववाचक संज्ञा कहते हैं। उदाहरण – बुढ़ापा, मिठास, क्रोध आदि।

5. समूहवाचक संज्ञा (Collective Noun)

जब किसी वाक्य में किसी बड़े समुदाय से संबंधित बातों का बोध कराया जाये तो उसे समूहवाचक संज्ञा कहते हैं। उदाहरण – सेना, पुलिस, बच्चे आदि।

Read Also : Memes Meaning in Hindi

Conclusion

मैं उम्मीद करता हूँ कि अब आप लोगों को संज्ञा किसे कहते हैं (Sangya kise kahte hain)। और संज्ञा के कितने भेद होते हैं (Sangya ke kitne bhed hote hain) से जुड़ी सभी जानकरियों के बारें में पता चल गया होगा। यह लेख आप लोगों को कैसा लगा हमें कमेंट्स बॉक्स में कमेंट्स लिखकर जरूर बतायें। साथ ही इस लेख को दूसरों के जरूर share करें, ताकि सबको इसके बारे में पता चल सके। धन्यवाद!

Leave a Comment

x