नितेंद्र सिंह रावत का जीवन परिचय | Nitendra Singh Rawat Biography in Hindi

नितेंद्र सिंह की जीवनी, नितेंद्र सिंह की कहानी, वेट लिफ्टिंग, कास्ट, कद, उम्र, रिकार्ड्स, धर्म, माता-पिता, शिक्षा, परिवार (Nitendra Singh Biography in Hindi, Nitendra Singh Story in Hindi, Age, Birthday, Height, Family, Career, Weight, Girlfriend, Education, Nitendra Singh News, Nitendra Singh Commonwealth 2022)

नितेंद्र सिंह का जीवन परिचय (Nitendra Singh Biography in Hindi)
नितेंद्र सिंह का जीवन परिचय (Nitendra Singh Biography in Hindi)

यदि आप नितेंद्र सिंह (मैराथन धावक) के बारे में विस्तार से जानने के लिए उत्सुक हैं, तो आप सही जगह पर हैं। यहां आपको भारोत्तोलक की जीवनी, उम्र, कद, पत्नी, प्रेमिका, परिवार, माता-पिता, मामले, नेट वर्थ, विकिपीडिया, आदि के अलावा और भी बहुत कुछ की जानकारी मिलेगी। तो चलिए देखते है।

नितेंद्र सिंह का जीवन परिचय (Nitendra Singh Biography in Hindi)

नितेंद्र सिंह रावत एक भारतीय मैराथन धावक हैं। उन्हें गोपी टी. और खेता राम के साथ पुरुषों की मैराथन में रियो डी जनेरियो में 2016 ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए चुना गया था। नितेंद्र सिंह रावत का जन्म 29 सितंबर 1986 को गरूर, बागेश्वर जिला, उत्तराखंड में हुआ था। इनके पिता का नाम हरीश रावत तथा माता का नाम रमा रावत है। नितेंद्र की पत्नी भी है जिसका नाम दीप्ती रावत है।

नितेंद्र बचपन में पहली कक्षा से ही पहाड़ के उबड़-खाबड़ रास्तों से पैदल ही स्कूल पहुँच जाता था। नितेंद्र अपने गांव से पांच किमी पैदल चलकर सरस्वती शिशु मंदिर गरुड़ जाते थे। यानी एक दिन में दस किमी चलना उसकी नियति थी। पांचवीं कक्षा पास करने के बाद वह अपने चाचा भूपाल सिंह रावत के साथ रानीखेत चले गए। भूपाल सिंह वहां सेना में तैनात थे। उन्होंने दसवीं तक आर्मी स्कूल से पढ़ाई की।

नितेंद्र फिर 12वीं करने अपने गांव आ गया। 12वीं की परीक्षा राजकीय इंटर कॉलेज गरुड़ से उत्तीर्ण की। फिर वह कॉलेज के लिए रोजाना 10 किलोमीटर पैदल चलता था। अल्मोड़ा परिसर से बीएससी करने का मन बना लिया। पढ़ाई के दौरान वह सेना में भर्ती हो गए। तब वे 19 वर्ष के थे।

Also Read – हिमा दास का जीवन परिचय

नाम (Name)नितेंद्र सिंह (Nitendra Singh)
निक नाम (Nik Name)नितेंद्र (Nitendra)
पूरा नाम (Full Name)नितेंद्र सिंह रावत
प्रसिद्द (Famous For)मैराथन धावक
पेशा (Occupation)धावक
जन्म तारीख (Date of birth)29 सितंबर 1986
जन्मदिन (Birthday)29 सितंबर
उम्र (Age)36 साल (2022 तक)
जन्म स्थान (Place of born)गरूर, बागेश्वर जिला, उत्तराखंड
पिता (Father)हरीश रावत
माता (Mother)रमा रावत
भाई (Brother)अज्ञात
बहन (Sister)2 छोटी बहने (नाम ज्ञात नहीं)
पत्नी (Wife)दिप्ती रावत
शिक्षा (Education)12वीं कक्षा
स्कूल (School )सरस्वती शिशु मंदिर गरुड़ (कक्षा 5वीं तक)
सैनिक स्कूल,रानीखेत (कक्षा 10वीं तक)
कॉलेज (Collage)राजकीय इंटर कॉलेज ,गरुड़ (कक्षा 12वीं तक)
आर्मी स्पोर्ट्स इंस्टीट्यूट,पुणे 
राशि (Zodiac Sign)कन्या राशि
लम्बाई (Height)5 फीट 8 इंच
वजन (Weight)58 किलोग्राम
बॉडी साइज (Body Measurements)42-30-15
बालो का रंग (Hair Color)काला
आँखों का रंग (Eye Color)काला
धर्म/जाति (Religion/Caste)हिन्दू
नागरिकता (Nationality)भारतीय
कुल सम्पत्ति (Net Worth)70 लाख – 1 करोड़ रूपये

यह भी देखें: जोशना चिनप्पा (स्क्वॉश खिलाड़ी) का जीवन परिचय

नितेंद्र सिंह का करियर (Career)

  • 19 साल की उम्र में, वह सेना में शामिल हो गए, जहां वे पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के किनारे पर तैनात थे, और सेना में रहते हुए, उन्होंने अपने कोच सुरिंदर सिंह भंडारी की देखरेख में धावक बनने के लिए प्रशिक्षण लेना शुरू कर दिया।
  • कश्मीर में तीन महीने के तनावपूर्ण समय के बाद जब से वह पुणे चले गए, तब से रावत ने आर्मी स्पोर्ट्स इंस्टीट्यूट में एथलेटिक्स का प्रशिक्षण शुरू किया।
  • नितेंद्र एक ट्रैक रनर थे लेकिन उन्होंने 2015 में ट्रैक रनर से मैराथन रेसिंग में स्विच किया। स्विच करने के बाद, उन्होंने अगले वर्ष गुवाहाटी, असम में 2 घंटे, 15 मिनट और 18 सेकंड के समय में दक्षिण एशियाई खेलों का मैराथन खिताब जीता।
  • उत्तराखंड के बागेश्वर जिले के आनन गांव के रहने वाले ओलंपियन नितेंद्र सिंह रावत ब्राजील में आयोजित 2016 रियो ओलंपिक में हिस्सा ले चुके हैं।
  • उन्होंने दोहा वर्ल्ड चैंपियनशिप में भी भारत का नाम रोशन किया है। उन्होंने मुंबई मैराथन में तीन स्वर्ण पदक जीते हैं।
  • नितेंद्र ने मार्च 2022 में 2 घंटे 16 मिनट और 05 सेकंड में अपनी दौड़ पूरी करते हुए दिल्ली मैराथन रेस जीती। यह कॉमनवेल्थ गेम्स (कॉमनवेल्थ गेम्स 2022) क्वालिफाइंग टाइम 2 घंटे 18 मिनट 40 सेकेंड से बेहतर रिकॉर्ड था।
  • नितेंद्र के अलावा, 3 अन्य मैराथन धावकों ने सीडब्ल्यूजी (कॉमन वेल्थ गेम्स) के लिए क्वालीफाई किया है, जिसमें आर्मीमैन श्रुनी बुगाथा भी शामिल हैं। हालांकि, नरेंद्र अग्रणी उपविजेता है और दूसरों से आगे एएफआई (एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया) चयन पैनल का नेतृत्व कर रहा है।

Also Read – लवलीना बोरगोहेन का जीवन परिचय

नितेंद्र सिंह रावत की उपलब्धियाँ

  • 2013 एशियन ग्रांड प्रिक्स में तीन व्यक्तिगत गोल्ड
  • 2015 मैराथन और दूसरी बार में किया ओलंपिक के लिए क्वालीफाई
  • 2016 रियो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व, साउथ एशियन गेम्स में व्यक्तिगत गोल्ड
  • 2017 नई दिल्ली में हाफ मैराथन में भाग
  • 2018 मुंबई में स्टैडर्ड चाटर्ट मैराथन
  • 2019 लंदन गेम्स
  • 2021 बोस्टन मैराथन में हिस्सा
  • 2022 एजेस फेडरल लाइफ इंसोरेंस मैराथन नई दिल्ली

नितेंद्र सिंह के बारे में पूछे जाने वाले प्रश्न

1. नितेंद्र सिंह कौन है?

उत्तर- नितेंद्र सिंह रावत एक भारतीय मैराथन धावक हैं। उन्हें रियो डी जनेरियो में ओलंपिक 2016 में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए चुना गया था।

2. नितेंद्र सिंह की उम्र कितनी है?

उत्तर- 36 साल (2022 तक)

3. नितेंद्र सिंह की हाइट कितनी है?

उत्तर- 5 फीट 8 इंच

4. नितेंद्र सिंह के माता का नाम क्या है?

उत्तर- रमा रावत

5. नितेंद्र सिंह के पिता का नाम क्या है?

उत्तर- हरीश रावत

6. नितेंद्र सिंह के बहन का नाम क्या है?

उत्तर- 2 छोटी बहने (नाम ज्ञात नही)

7. नितेंद्र सिंह के पत्नी का नाम क्या है?

उत्तर- दिप्ती रावत

मैं उम्मीद करता हूँ कि अब आप लोगों को नितेंद्र सिंह का जीवन परिचय (Nitendra Singh Biography in Hindi) से जुड़ी सभी जानकरियों के बारें में भी पता चल गया होगा। यह लेख आप लोगों को कैसा लगा हमें कमेंट्स बॉक्स में कमेंट्स लिखकर जरूर बतायें। साथ ही इस लेख को दूसरों के जरूर share करें जो लोग नितेंद्र सिंह (Nitendra Singh) के बारे में जानना चाहतें हैं, ताकि सबको इसके बारे में पता चल सके। धन्यवाद!

Leave a Comment

x
नियति फतनानी ने बिना ब्लाउज के साड़ी पहन कराया फोटोशूट, देखे तस्वीरें सूर्यकुमार यादव के बारे में 10 ऐसी बाते जो आप नहीं जानते! ऋषभ पंत की बहन की खुबसूरती के सामने ऐश्वर्या राय भी पड़ जाती है फिकी सेक्सहोलिक सीरीज की एक्ट्रेस शमा सिकंदर ने बिकनी में बिखेरा जलवा एली अवराम का यह बोल्ड लुक देखा आपने? क्यों मनाते है रक्षाबंधन? जानिए इस पर्व से जुड़ी पौराण‍िक कथाएं