बलगम वाली खांसी के लिए सिरप | Syrup For Mucus Cough In Hindi

बलगम वाली खांसी के लिए सिरप: नमस्कार दोस्तों, कैसे है आप सभी? मैं आशा करता हु की आप सभी अच्छे ही होंगे. दोस्तों आज के समय में बदलते मौसम के कारण खांसी-जुखाम होना तो आम बात हो गयी है. परन्तु कई बार यही नार्मल खांसी किसी व्यक्ति के जान के लिए भी खतरा बन जाते है. और ज्यादातर बलगम वाली खांसी ही खतरनाक होती है क्योंकि इसमें Cough आपके सिने में जमा होने लगता है जिससे आपको सांस लेने में भी दिक्कत हो सकती है.

बलगम वाली खांसी के लिए सिरप | Syrup For Mucus Cough In Hindi
बलगम वाली खांसी के लिए सिरप | Syrup For Mucus Cough In Hindi

ऐसे में जितनी जल्दी हो सके, बलगम वाली खांसी का इलाज करना आवश्यक होता है. वैसे तो मार्किट में बहुत सारे ब्रांड है जोकि बलगम वाली खांसी के लिए सिरप देने का दावा करती है, परन्तु इस प्रकार सभी पर भरोसा कर उनके प्रोडक्ट को इस्तेमाल करना हानिकारक भी हो सकता है.

इसी लिए आज के इस आर्टिकल में मैं आप को बेस्ट बलगम वाली खांसी के लिए सिरप (Syrup For Mucus Cough In Hindi) के बारे में बताने जा रहा हूँ, जिसका उपयोग आप बलगम वाली खांसी होने पर बिना हिचकिचाए कर सकते है.

Also Read: गुलाब जल के नुकसान

बलगम वाली खांसी के लिए सिरप | Syrup For Mucus Cough In Hindi

बलगम वाली खांसी के लिए सिरप की जानकारी, फायदे, प्राइस, आदि निम्नलिखित है:

  • सिरप का नाम: कफ जीटीबी सिरप
  • निर्माता: बाइंडलिश बायोटेक लिमिटेड
  • दवा के घटक: गुआइफेनसिन (100मि.ग्रा) + टर्बूटालाइन (1.5मि.ग्रा) + ब्रोमहेक्सिन (4मि.ग्रा)
  • स्टोरेज के निर्देश: 30°c से कम तापमान पर स्टोर करें

Also Read: शीघ्र स्खलन का रामबाण इलाज

कफ जीटीबी सिरप के बारे में

कफ जीटीबी सिरप का बलगम वाली खांसी के इलाज के लिए प्रयोग किया जाता है। यह नाक, श्वासनली और फेफड़ों में बलगम को पतला करता है, जिससे कफ आसानी से बाहर निकल सकता है। यह बहती नाक, छींकने, खुजली और आंखों में पानी आने से भी राहत देता है।

कफ जीटीबी सिरप को डॉक्टर द्वारा बताई गई खुराक और अवधि के अनुसार भोजन के साथ या बिना भोजन के लेना चाहिए। खुराक आपकी स्थिति और दवा के प्रति आपकी प्रतिक्रिया पर निर्भर करेगा। डॉक्टर द्वारा बताई गई अवधि तक इस दवा का सेवन जारी रखें। यदि आप जल्दी इलाज बंद कर देते हैं, तो आपके लक्षण वापस आ सकते हैं और आपकी स्थिति और खराब हो सकती है। डॉक्टर को अन्य सभी दवाओं के बारे में बताएं जो आप ले रहे हैं क्योंकि उनमें से कुछ इस दवा को प्रभावित या प्रभावित कर सकती हैं।

सबसे आम दुष्प्रभाव मतली, दस्त, पेट फूलना, अपच, उल्टी, पेट में दर्द, पसीना, सिरदर्द, त्वचा पर लाल चकत्ते, कंपकंपी और हृदय गति में वृद्धि है। इनमें से अधिकांश अस्थायी हैं और आमतौर पर समय के साथ बेहतर हो जाती हैं। यदि आप इनमें से किसी भी दुष्प्रभाव के बारे में चिंतित हैं, तो अपने डॉक्टर से बात करें। यह दवा नींद का कारण बन सकती है, इसलिए जब तक आप यह नहीं जानते कि यह दवा आपको कैसे प्रभावित करती है, तब तक गाड़ी न चलाएं या ऐसा कुछ भी न करें जिसमें मानसिक ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता हो। इस दवा को लेते समय शराब पीने से बचें क्योंकि इससे अत्यधिक नींद आ सकती है।

स्व-दवा की वकालत न करें या किसी और को अपनी दवा की सलाह न दें। इस दवा को लेते समय अधिक मात्रा में तरल पदार्थ लेना फायदेमंद होता है। इस दवा को लेने से पहले, आपको अपने डॉक्टर को बताना चाहिए कि क्या आप गर्भवती हैं, गर्भवती होने की योजना बना रही हैं या स्तनपान करा रही हैं। यदि आपको गुर्दे की कोई बीमारी है तो आपको अपने डॉक्टर को भी सूचित करना चाहिए ताकि डॉक्टर आपके लिए उचित खुराक का नुस्खा लिख ​​सकें।

Also Read: अंजीर खाने के फायदे

कफ जीटीबी सिरप के मुख्य इस्तेमाल

कफ जीटीबी सिरप का इस्तेमाल मुखयतः बलगम वाली खांसी में किया जाता है.

कफ जीटीबी सिरप के लाभ

  • कफ जीटीबी सिरप से गाढ़े म्यूकस को पतला करने में मदद मिलती है, जिससे खांसी से छुटकारा पाना आसान हो जाता है.
  • इससे हवा अंदर लेना और बाहर निकलना आसान हो जाता है.
  • इससे आपको छाती में जकड़न, सांस लेने में तकलीफ, घरघराहट और खांसी जैसे लक्षणों से राहत मिलेगी.
  • यह दवा सुरक्षित और प्रभावी है.
  • आमतौर पर कुछ मिनटों के भीतर काम करना शुरू करता है.
  • इसका प्रभाव कई घंटों तक रहता है.

Also Read: किस विटामिन की कमी से नींद नहीं आती है?

कफ जीटीबी सिरप का सेवन डॉक्टर की सलाह के अनुसार ही करें। जब तक आपका डॉक्टर आपको न कहे तब तक इसका इस्तेमाल बंद न करें। इस दवा को लेने से आप लक्षणों की चिंता किए बिना अपना जीवन जी सकते हैं।

कफ जीटीबी सिरप के साइड इफेक्ट

इस दवा से होने वाले अधिकांश साइड इफेक्ट में डॉक्टर की सलाह लेने की ज़रूरत नहीं पड़ती है और नियमित रूप से दवा का सेवन करने से साइट इफेक्ट अपने आप समाप्त हो जाते हैं. अगर साइड इफ़ेक्ट बने रहते हैं या लक्षण बिगड़ने लगते हैं तो अपने डॉक्टर से सलाह लें.

कफ जीटीबी के सामान्य साइड इफेक्ट्स निम्नलिखित है:

  • मिचली आना
  • डायरिया (दस्त)
  • पेट फूलना
  • अपच
  • उल्टी
  • पेट में दर्द
  • पसीना आना
  • चक्कर आना
  • सिर दर्द
  • त्वचा पर रैश
  • हाइव्स
  • कंपकपी
  • ह्रदय गति बढ़ना

Also Read: थायराइड के मरीज को कभी नहीं करनी चाहिए ये 7 चीजें

कफ जीटीबी सिरप का इस्तेमाल कैसे करें?

इस दवा की खुराक और अनुपान की अवधि के लिए अपने डॉक्टर से सलाह लें. इस्तेमाल करने के पहले लेवल की जांच कर लें. इसे मापने वाले कप से मापें और फिर पिएं. इस्तेमाल करने के पहले अच्छी तरह से हिलायें. कफ जीटीबी सिरप को खाने के साथ या भूखे पेट भी ले सकते हैं, लेकिन बेहतर यह होगा कि इसे एक तय समय पर लिया जाए.

कफ जीटीबी सिरप किस प्रकार काम करता है?

कफ जीटीबी सिरप तीन दवाओं का मिश्रण हैः गुआइफेनसिन, टर्बूटालाइन और ब्रोमहेक्सिन, जो बलगम वाली खांसी से राहत देता है. गुआइफेनसिन एक एक्सपेक्टोरेंट है जो बलगम (कफ) की चिपचिपाहट को कम करता है और श्वास नली से इसे बाहर निकालने में मदद करता है. टरबुटालाइन ब्रोन्कोडाइलेटर होता है. यह वायुमार्गों में मांसपेशियों को आराम देकर और वायुमार्गों को विस्तृत करके काम करता है. ब्रोम्हेक्सिन एक म्यूकोलिटिक है जो म्यूकस (बलगम) को पतला और ढीला बनाता है, जिससे खांसी में आराम मिलता है. साथ में, वे सांस लेना आसान कर देते हैं.

Disclaimer : यह लेख केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए हैं। यहाँ पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए। चिकित्सा परीक्षण और उपचार के लिए हमेशा एक योग्य चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए। HindiQueries.Com इस जानकारी की जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Conclusion

मैं उम्मीद करता हूँ कि अब आप लोगों को बलगम वाली खांसी के लिए सिरप (Syrup For Mucus Cough In Hindi) से जुड़ी सभी जानकरियों के बारें में पता चल गया होगा। यह लेख आप लोगों को कैसा लगा हमें कमेंट्स बॉक्स में कमेंट्स लिखकर जरूर बतायें। साथ ही इस लेख को दूसरों के जरूर share करें, ताकि सबको इसके बारे में पता चल सके। धन्यवाद!

Leave a Comment

x