सुर शब्द रूप संस्कृत में | Sur Shabd Roop in Sanskrit

सुर का शब्द रूप, सुर का शब्द रूप संस्कृत में, सुर शब्द, सुर शब्द रूप संस्कृत, सुर की विभक्ति, Sur ka roop, Sur shabd in sanskrit, Sur shabd ke roop, Sur shabd roop, Sur shabd roop in sanskrit, Sur shabd roop sanskrit mein, Sanskrit Sur shabd, Sanskrit Sur shabd roop

सुर शब्द का परिचय

सुर शब्द अकारांत पुल्लिंग संज्ञा, सभी पुल्लिंग संज्ञाओ के शब्द रूप इसी प्रकार बनाते है जैसे – मानव, अश्व, गज, ब्राह्मण, क्षत्रिय, शूद्र, छात्र, शिष्य, देव, बालक, राम, वृक्ष, सूर्य, सुर, असुर, दिवस, लोक, ईश्वर, भक्त आदि।

सुर शब्द रूप (Sur Shabd Roop in Sanskrit)

सुर शब्द के रूप विभक्ति में एवं तीनों वचनों में नीचे दिये गये हैं:

विभक्तिएकवचनद्विवचनबहुवचन
प्रथमासुर:सुरौसुरा:
द्वितीयासुरम्सुरौसुरान्
तृतीयासुरेनसुराभ्याम्सुरै:
चतुर्थीसुरायसुराभ्याम्सुरेभ्य:
पंचमीसुरात्सुराभ्याम्सुरेभ्य:
षष्ठीसुरस्यसुरयो:सुरानाम्
सप्तमीसुरेसुरयो:सुरेषु
संबोधनहे सुर !हे सुरौ !हे सुरा !

अन्य महत्वपूर्ण शब्द रूप

नदीहरि
रामलता
अस्मद्मुनि
मैं उम्मीद करता हूँ कि अब आप लोगों को सुर शब्द रूप संस्कृत में (Sur Shabd Roop in Sanskrit) लेख के बारें में पता चल गया होगा। यह लेख आप लोगों को कैसा लगा हमें कमेंट्स बॉक्स में कमेंट्स लिखकर जरूर बतायें। साथ ही इस लेख को दूसरों के जरूर share करें, ताकि सबको इसके बारे में पता चल सके। धन्यवाद!

रोहित HindiQueries के संस्थापक और सह-संस्थापक हैं। वह पेशे से एक वेब डेवलपर, प्रोग्रामर और ब्लॉगर हैं। उन्हें ब्लॉग लिखना और अपने विचारों और ज्ञान को अन्य लोगों के साथ साझा करना पसंद है।

Sharing Is Caring:

Leave a Comment

x