संज्ञा की परिभाषा, संज्ञा के भेद कितने होते हैं

संज्ञा की परिभाषा : इस पोस्ट में हम एक बहुत ही अच्छी और महत्वपूर्ण जानकारी बताएंगे, यह जानकारी आपके लिए जानना बहुत जरूरी है क्योंकि आज हम आपको इस पोस्ट में हिंदी व्याकरण के ऐसे विषय के बारे में जानकारी देंगे जो हमारे लिए जानना बहुत जरूरी है।

नमस्कार दोस्तों HindiQueries में आप सभी का बहुत-बहुत स्वागत है. दोस्तों आज हम संज्ञा की परिभाषा और संज्ञा के भेद कितने होते हैं के बारे में हम सारी जानकरियां जानेंगे।

संज्ञा की परिभाषा – Sangya Ki Paribhasha

किसी व्यक्ति, वस्तु, प्राणी, स्थान, गुण, जाति या भाव, दशा आदि के नाम को संज्ञा (Noun) कहते हैं। वास्तव में संज्ञा का शाब्दिक अर्थ है — सम+ज्ञा अर्थात सही ज्ञान कराने वाला। संज्ञा का दूरा पर्याय है। उदाहरण – जैसे- मोबाइल, टीवी (वस्तु), गाँव, कॉलेज (स्थान), आदमी, पशु (प्राणी) आदि।

Also Read: Application For Leave in Hindi

संज्ञा के भेद – Sangya Ke Bhed

संज्ञा के मुख्य रूप से पांच भेद होते हैं –

  1. व्यक्तिवाचक संज्ञा (Proper Noun)
  2. जातिवाचक संज्ञा (Common Noun)
  3. द्रव्यवाचक संज्ञा (Material Noun)
  4. भाववाचक संज्ञा (Abstract Noun)
  5. समूहवाचक संज्ञा (Collective Noun)

1. व्यक्तिवाचक संज्ञा की परिभाषा

वे शब्द जो किसी एक व्यक्ति, वस्तु, स्थान आदि का बोध करवाता है उसे व्यक्तिवाचक संज्ञा कहते है। उदाहरण – राम (नाम), मोबाइल (वस्तु), आजमगढ़ (स्थान) आदि।

2. जातिवाचक संज्ञा की परिभाषा

वे शब्द जो किसी व्यक्ति, वस्तु या स्थान की संपूर्ण जाति का बोध कराते हैं, उन शब्दों को जातिवाचक संज्ञा कहते हैं। यानी, जातिवाचक संज्ञा शब्दों से एक जाति के अंतर्गत आने वाले सभी व्यक्तियों, वस्तुओं व स्थानों का बोध होता है। उदाहरण – लड़का , लड़की , नदी , पर्वत आदि।

3. द्रव्यवाचक संज्ञा की परिभाषा

जिस संज्ञा शब्दों से किसी धातु , द्रव्य , सामग्री , पदार्थ आदि का बोध हो , उसे द्रव्यवाचक संज्ञा कहते है। उदाहरण – गेहूं, चावल, सोना, चाँदी आदि।

4. भाववाचक संज्ञा की परिभाषा

जब किसी विशेष व्यक्ति के भाव, किसी विशेष व्यक्ति के गुणों, या किसी विशेष प्राणियों के गुणों, या प्राणियों के भावों, या किसी विशेष स्थान के भाव, आदि का बोध कराया जाए उसे भाववाचक संज्ञा कहते हैं। उदाहरण – बुढ़ापा, मिठास, क्रोध आदि।

5. समूहवाचक संज्ञा की परिभाषा

जब किसी वाक्य में किसी बड़े समुदाय से संबंधित बातों का बोध कराया जाये तो उसे समूहवाचक संज्ञा कहते हैं। उदाहरण – सेना, पुलिस, बच्चे आदि।

यह भी पढ़ें: ITI Full Form in Hindi

Final Words

तो दोस्तों आज हमने संज्ञा की परिभाषा और संज्ञा के भेद कितने होते हैं के बारे में जाना है और मैं आशा करता हु की आप सभी को आज का यह पोस्ट पसंद आया होगा और आप के लिय हेल्पफुल भी होगा।

यदि आप को यह आर्टिकल (संज्ञा की परिभाषा और संज्ञा के भेद कितने होते हैं) पसंद आया है तो इसे अपने सभी दोस्तों के साथ भी जरुर से share करे…पोस्ट को पूरा पढने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत धन्यवाद!

Leave a Comment

x