लोक शब्द रूप संस्कृत में | Lok Shabd Roop in Sanskrit

लोक का शब्द रूप, लोक का शब्द रूप संस्कृत में, लोक शब्द, लोक शब्द रूप संस्कृत, लोक की विभक्ति, Lok ka roop, Lok shabd in sanskrit, Lok shabd ke roop, Lok shabd roop, Lok shabd roop in sanskrit, Lok shabd roop sanskrit mein, Sanskrit Lok shabd, Sanskrit Lok shabd roop

लोक शब्द का परिचय

लोक शब्द अकारांत पुल्लिंग संज्ञा, सभी पुल्लिंग संज्ञाओ के शब्द रूप इसी प्रकार बनाते है, जैसे- ज्ञान, धन, जल, बल, पुस्तक, दुग्ध, मित्र, मुख, वन, नगर, गृह, पुष्प, पत्र, कमल, नक्षत्र आदि।

विभक्तिएकवचनद्विवचनबहुवचन
प्रथमालोक:लोकौलोका:
द्वितीयालोकम्लोकौलोकान्
तृतीयालोकेनलोकाभ्याम्लोकै:
चतुर्थीलोकायलोकाभ्याम्लोकेभ्य:
पंचमीलोकात्लोकाभ्याम्लोकेभ्य:
षष्ठीलोकस्यलोकयो:लोकानाम्
सप्तमीलोकेलोकयो:लोकेषु
संबोधनहे लोक!हे लोकौ!हे लोका!

लोक शब्द रूप (Lok Shabd Roop in Sanskrit)

लोक शब्द के रूप विभक्ति में एवं तीनों वचनों में नीचे दिये गये हैं:

अन्य महत्वपूर्ण शब्द रूप

नदीहरि
रामलता
अस्मद्मुनि
मैं उम्मीद करता हूँ कि अब आप लोगों को लोक शब्द रूप संस्कृत में (Lok Shabd Roop in Sanskrit) लेख के बारें में पता चल गया होगा। यह लेख आप लोगों को कैसा लगा हमें कमेंट्स बॉक्स में कमेंट्स लिखकर जरूर बतायें। साथ ही इस लेख को दूसरों के जरूर share करें, ताकि सबको इसके बारे में पता चल सके। धन्यवाद!

Leave a Comment

x
10 Facts You Didn’t Know About Mandy Rose (Wrestler) 10 Facts You Didn’t Know About Kehlani (Singer) 10 Facts You Didn’t Know About Jenna Ortega (Actress) 10 Facts You Didn’t Know About Emily Blunt (Actress) 10 Facts You Didn’t Know About Maria Telkes