IP Full Form | IP का Full Form क्या होता है?

IP Full Form | IP का Full Form क्या होता है?

नमस्कार दोस्तो, Hindi Queries में आपका स्वागत है। आज हम इस पोस्ट में बताने जा रहे है IP Full Form, IP का Full Form क्या है, IP क्या होता है, IP Kya Hota Hai, IP का पूरा नाम इन सभी सवालों के जबाब आपको इस Post में मिल जायेंगे।

IP Full Form | IP का Full Form क्या होता है?
IP Full Form | IP का Full Form क्या होता है?

IP क्या होता है – I P Full Form

IP का फुल फॉर्म Internet Protocol होता है। इसे हिंदी मे भी इंटरनेट प्रोटोकॉल से जाना जाता है। दुनिया मे जितने भी डिजिटल डिवाइस है जो इंटरनेट से चलता है इन सभी डिवाइस मे सभी के अलग अलग ईद होती है जो की सभी को एक दूसरे से अलग करती है। इसे IP Address से जाना जाता है।

जब हम इंटरनेट पर कुछ सर्च करते है तो वो रिजल्ट कैसे हमारे पास लता है कभी इस बारे मे सोचा है तो इस लिए IP Address द्वारा Routers से पता लगता है और फिर सभी जानकारी इक्क्ठा करके आपके पास लता है।

IP Address 32 Bit का होता है यह Binary Digit से बनता है। इसको चार भागो मे अलग किया गया है और हर एक एक भाग मे कम से कम ० और ज्यादा से ज्यादा २५५ तक की सख्या हो सकती है। उदहारण के तोर पर 192.168.1.0 ।

IP Address के Versions :

अभी तक IP Address के केवल २ ही Version बनाये गए है।

  • IPv4
  • IPv6

IPv4 क्या है?

IPv4 IP का पहला Version था। यह 1983 में ARPANET में उत्पादन के लिए तैनात किया गया था। आज यह सबसे व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जाने वाला IP Version है। इसका उपयोग Address System का उपयोग करके नेटवर्क पर उपकरणों की पहचान करने के लिए किया जाता है।

IPv4 एक 32 Bit Address स्कीम का उपयोग करता है जो 2 ^ 32 Address को स्टोर करने की अनुमति देता है जो 4 बिलियन से अधिक Address है। अब तक, यह प्राथमिक इंटरनेट प्रोटोकॉल माना जाता है और इंटरनेट ट्रैफ़िक का 94% वहन करता है।

IPv4 के Features क्या है?

  • विविध उपकरणों पर एक साधारण आभासी संचार परत बनाने की अनुमति देती है।
  • इसके लिए कम Memory, और Address याद रखने में आसानी की आवश्यकता होती है।
  • पहले से ही लाखों उपकरणों द्वारा समर्थित प्रोटोकॉल।

IPv6 क्या है?

यह इंटरनेट प्रोटोकॉल का सबसे नवीनतम संस्करण है। इंटरनेट इंजीनियर टास्कफोर्स ने इसे 1994 की शुरुआत में शुरू किया था। उस Suite के डिजाइन और विकास को अब IPv6 कहा जाता है।

अधिक इंटरनेट Addresses की आवश्यकता को पूरा करने के लिए यह नया आईपी पता Version तैनात किया जा रहा है। इसका उद्देश्य उन मुद्दों को हल करना था जो IPv4 से जुड़े हैं। 128 Bit Address स्पेस के साथ, यह 340 undecillion यूनीक एड्रेस स्पेस देता है। IPv6 को IPng (इंटरनेट प्रोटोकॉल अगली पीढ़ी) भी कहा जाता है।

IPv6 के Features क्या है?

  • पड़ोसी नोड इंटरैक्शन के लिए एक आदर्श प्रोटोकॉल
  • स्टेटफुल और स्टेटलेस कॉन्फ़िगरेशन
  • सेवा की गुणवत्ता के लिए समर्थन
IP Address Version IPv4 IPv6
IP Address Version Example 192.168.2.165 2001:0db8:0000:0000:0000:ff00:0042:7879

IP Address के प्रकार कौन कौन से है :

IP Full form Address दो प्रकार के है

  • Private IP Address
  • Public IP Address

Private IP Address क्या होता है?

किसी सिस्टम का Private IP Address होता है जिसका उपयोग उसी नेटवर्क के भीतर संचार करने के लिए किया जाता है। Private IP डेटा या सूचना का उपयोग करके एक ही नेटवर्क में भेजा या प्राप्त किया जा सकता है।

एक संगठन के भीतर कंप्यूटर, टैबलेट और स्मार्टफोन को आमतौर पर Private IP Full form Address दिए जाते हैं। आपके घर में रहने वाले एक नेटवर्क प्रिंटर को एक Private AAddress सौंपा जाता है ताकि केवल आपका परिवार ही आपके स्थानीय प्रिंटर को प्रिंट कर सके।

Public IP Address क्या होता है?

इस आईपी पते का उपयोग नेटवर्क के बाहर संचार करने के लिए किया जाता है। Public IP Address मूल रूप से ISP (इंटरनेट सेवा प्रदाता) द्वारा दिया जाता है।

यह IP पूरे इंटरनेट में Unique होते है। Public IP Address Static या Dynamic हो सकते हैं। Statics Public IP Address टर्नअराउंड नहीं होता है और इसका इस्तेमाल मुख्य रूप से इंटरनेट पर किसी भी सेवा जैसे आईपी कैमरा, एफ़टीपी सर्वर, ईमेल सर्वर या कंपाइल कार्ड के दूरस्थ कार्य करने या वेब होस्टिंग के लिए किया जाता है। इसे आईएसपी से खरीदा जाना है।

Dynamic IP Address उपलब्ध IP full form Address को लेता है और हर बार इंटरनेट से कनेक्ट होने पर बदल देता है। अधिकांश इंटरनेट उपयोगकर्ताओं के पास अपने कंप्यूटर के लिए एक गतिशील आईपी पता होता है।

आशा है आपको ये आर्टिकल पढ़ कर बोहोत से Benefits मिले। अगर आपको ऐसा लगे की हम कुछ भूल गए है इस आर्टिकल मे लिखना तो तहे मन से comments मे आपके विचार डाले।

यदि आपको IP Full Form | IP का Full Form क्या होता है article पसंद आया और कुछ नया सिखने को मिला तो इसको अपने मित्रो के साथ शेयर करना ना भूले। इस आर्टिकल को आप ज्यादा से ज्यादा लोगो के पास पहुचाये जिस से उन सभी को लाभदाई हो सके

इस पोस्ट को अपने मित्रों के साथ Social Networks जैसे कि WhatsApp, Facebook और Twitter इत्यादि पर share कीजिये, तो मिलते है किसी नए रोमांचक Article के साथ ।

Leave a Reply