75वाँ स्वतंत्रता दिवस : लाल किले से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अहम घोषणाएं

75वाँ स्वतंत्रता दिवस : 75वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित करते हुए किसानों, लड़कियों और युवाओं के लिए कई अहम बातें कहीं। पढ़ें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अहम ऐलान

Contents hide
1 75वाँ स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अहम घोषणाएं

75वाँ स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अहम घोषणाएं

1. सैनिक स्कूलों में पढ़ेंगी लड़कियाँ

पीएम मोदी ने कहा कि अब लड़कियां देश के सभी सैनिक स्कूलों में पढ़ सकेंगी। उन्होंने कहा, ”कुछ समय पहले मिजोरम के एक सैनिक स्कूल में लड़कियों का दाखिला शुरू हुआ था। इसके बाद अब सरकार ने फैसला किया है कि देश के सभी सैनिक स्कूल अब देश की बेटियों के लिए खोले जाएंगे।” पहले सैनिक स्कूलों में लड़कों का ही दाखिला होता था।

2. नई शिक्षा नीति

मोदी ने देश में कहा कि देश की नई शिक्षा नीति गरीबी से लड़ने और 21वीं सदी की जरूरतों को पूरा करने का एक साधन है और अब क्षेत्रीय भाषाओं को अधिक महत्व दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति में पढ़ाई के साथ-साथ खेल को अतिरिक्त की जगह मुख्यधारा की शिक्षा का हिस्सा बनाया गया है।

3. मातृभाषा की प्राथमिकता पर जोर

पीएम मोदी ने कहा कि भाषा की वजह से देश की महान प्रतिभा को पिंजड़े में बांध दिया गया है, लेकिन भाषा कभी भी विकास में बाधक नहीं बननी चाहिए। उन्होंने कहा, “लोग अपनी मातृभाषा में आगे बढ़ सकते हैं। अगर लोग अपनी मातृभाषा में पढ़ेंगे, तो उनकी प्रतिभा के साथ न्याय होगा। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति भी गरीबी के खिलाफ लड़ाई में एक बड़े हथियार के रूप में उभरने वाली है क्योंकि यह लोगों की प्रतिभा को जगह देगा।

“मातृभाषा महत्वपूर्ण है। उनकी प्रतिष्ठा है। खेल के मैदान में कोई भाषा बाधा नहीं थी। युवा हमारा खेल रहा है और खिल भी रहा है। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में खेलों को महत्व के साथ शामिल किया गया है। यह बहुत महत्वपूर्ण है जीवन में पूर्ति के लिए खेल रखें।”

4. सुविधाओं तक पहुंच नहीं बल्कि पूर्णता होगा लक्ष्य

मोदी ने कहा कि अब तक देश की सरकारों का प्रयास था कि देश के कोने-कोने में सुविधाएं हों, लेकिन अब लक्ष्य यह होना चाहिए कि सभी लोगों तक सभी सुविधाएं शत-प्रतिशत पहुंचें। उन्होंने कहा, “अब हमें विकास की ओर नहीं बल्कि पूर्णता की ओर जाना है। यानी देश की शत-प्रतिशत जनता को सभी सुविधाएं मुहैया कराई जाएं, यही हमारा लक्ष्य होना चाहिए।”

“सभी परिवारों को सभी सुविधाएं मिलनी चाहिए और हमें सभी योजनाओं की संतृप्ति का लक्ष्य हासिल करना है। इसमें ज्यादा समय नहीं लगता है।”

5. चीन और पाकिस्तान पर बिना नाम लिए निशाना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत आतंकवाद और विस्तारवाद की चुनौतियों का सामना बड़े साहस के साथ कर रहा है। भारत आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान पर सवाल उठाता रहा है और पीएम मोदी विस्तारवाद को लेकर चीन पर निशाना साधते रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक कर भारत ने अपने दुश्मनों को साफ संदेश दिया है कि अब एक नया और आधुनिक भारत उभर रहा है, जो कड़े फैसले लेने में पूरी तरह सक्षम है।

6. शहरों को गाँवों के बीच की खाई को पाटने का समय

उन्होंने कहा कि अब शहरों और गांवों के बीच की खाई को पाटने के लिए आप्टिकल फाइबर नेटवर्क भी वहां पहुंच रहा है।

उन्होंने कहा, ”नए उद्यम शुरू करने के लिए गांव में कई जगह महिलाएं स्वयं सहायता समूहों से जुड़ रही हैं, ऐसी महिलाओं के लिए सरकार एक ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म बनाएगी ताकि उनके उत्पाद देश के कोने-कोने तक पहुंच सकें। ”पीएम मोदी ने कहा कि सरकार गरीबों और दलितों के लिए आरक्षण व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए काम कर रही है और विधेयक पारित करके राज्यों को वंचित समुदायों की पहचान करने की जिम्मेदारी दी गई है।

7. कृषि क्षेत्र में वैज्ञानिकों की सलाह

मोदी ने कहा कि जब पूरी दुनिया कोरोना महामारी से जूझ रही थी, उस समय भारत ने कोरोना की वैक्सीन बनाकर लोगों को देने का काम किया. उन्होंने कहा कि अगर ऐसा नहीं होता तो अंदाजा लगाया जा सकता है कि भारत का क्या होगा।

अब आने वाले समय में देश की बढ़ती जनसंख्या को देखते हुए कृषि क्षेत्र की खाद्य आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए वैज्ञानिकों की सलाह लेने का समय आ गया है।

8. छोटे किसानों को दी जाएगी प्राथमिकता

उन्होंने कहा कि “गांवों में लोगों के पास जमीन छोटी होती जा रही है। परिवारों के बंटवारे के बाद किसानों की जमीन छोटी होती जा रही है। पहले की नीतियों में छोटे किसानों पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया जाता था लेकिन अब वे निर्णय लेते हैं।” किसानों को ध्यान में रखकर लिया जा रहा है।आने वाले समय में प्रखंड स्तर पर गोदाम बनाने का अभियान चलाया जाएगा।

उन्होंने कहा, “देश के ज्यादातर किसान छोटी जमीन के मालिक हैं। पहले देश की नीतियों में छोटे किसानों के लिए कोई नीति नहीं थी। लेकिन अब देश में कृषि सुधार किए जा रहे हैं। फसल बीमा में सुधार हो रहा है। चालू। छोटे किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड प्राप्त करें। सौर योजनाएँ प्रभावी हों। हर छोटे किसान को ध्यान में रखते हुए पीएम कृषि सम्मान योजना चलाई जा रही है। छोटा किसान बनना देश का गौरव – यही हमारा सपना है। बढ़ाना आने वाले वर्षों में देश के छोटे किसानों की ताकत होगी।”

यह भी जानें :- Facts About Red Fort in Hindi : लाल किला के बारे में जानकारी

9. नॉर्थ ईस्ट को पूरे भारत से जोड़ा जाएगा

मोदी ने अपने संबोधन में कहा, “उत्तर भारत में सरकार कनेक्टिविटी का इतिहास लिख रही है और यह कनेक्टिविटी न केवल इंफ्रास्ट्रक्चर की है बल्कि दिलों के बीच भी है। जल्द ही उत्तर भारत पूरे भारत के साथ रेल सेवा से पूरी तरह से जुड़ जाएगा।”

“वहाँ पर ऑयल फार्म, हर्बल फार्मिंग और ऑर्गेनिग खेती की अनेक संभावनाएं है। आने वाले सालों में इस पर काम होगा।”

10. नागरिकों के जीवन में सरकार का दखल होगा कम

मोदी ने कहा कि आधुनिक युग में देश की अगली पीढ़ी के सुधारों को लागू किया जाएगा ताकि सभी सरकारी सुविधाएं देश के अंतिम कोने में व्यक्ति तक आसानी से पहुंच सकें।

पीएम मोदी ने कहा, “अमृत का लक्ष्य एक ऐसा भारत बनाना है, जहां सुविधाओं का स्तर गांवों और शहरों को विभाजित नहीं कर रहा है। जहां सरकार नागरिकों के जीवन में अनावश्यक रूप से हस्तक्षेप नहीं करती है, जहां हर आधुनिक बुनियादी ढांचा है। दुनिया इसके लिए देश बदलेगा लेकिन बदलते जमाने के हिसाब से हमें भी बदलना होगा।

मोदी ने कहा कि पहले के दौर में सरकार खुद ड्राइविंग सीट पर बैठती थी लेकिन अब यह आधुनिक देश की जरूरत नहीं है, इसलिए देश के नागरिकों के जीवन में सरकार का दखल कम से कम मुमकिन होना चाहिए।

उन्होंने कहा, “देश को प्रयास करना होगा कि देश के लोगों को अनावश्यक कानूनों और प्रक्रियाओं के जाल से हटा दिया जाए। इसके लिए हाल ही में सरकार से 15 हजार से अधिक अनुपालनों को हटा दिया गया है। व्यापार करना वही है जो हमें चाहिए। दर्जनों श्रम कानूनों को चार संहिताओं में मिला दिया गया है और कर ढांचे में भी बड़े बदलाव किए जा रहे हैं।”

11. जम्मू कश्मीर में कराए जाएंगे विधानसभा चुनाव

जम्मू कश्मीर मे डीलिमीटेशन कमिटी का गठन हो चुका है और आने वाले समय में यहां विधानसभा चुनाव करवाने की तैयारियां हो रही हैं।

12. 14 अगस्त को विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अब से हर साल 14 अगस्त को विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस के रूप में याद करने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा, “जिन लोगों ने उस दौरान कष्ट सहे और जो उस समय अंतिम संस्कार नहीं कर पाए, उन लोगों को 14 अगस्त को याद किया जाएगा।”

13. नेशनल हाइड्रोजन मिशन की घोषणा

मोदी ने राष्ट्रीय हाइड्रोजन मिशन की घोषणा की और कहा कि सरकार का लक्ष्य भारत को ऊर्जा के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाना है और धीरे-धीरे स्थायी ऊर्जा की ओर बढ़ना है।

मोदी ने कहा कि वर्ष 2030 के लिए देश 450 गीगावाट सतत ऊर्जा का उत्पादन करने का लक्ष्य लेकर चल रहा है और उम्मीद है कि समय से पहले इसे पूरा किया जा सकता है। इसके लिए सरकार ने वर्ष 2030 तक सतत ऊर्जा से रेलवे की जरूरतों को पूरा करने का फैसला किया है।

15. शुरू की जाएंगी 75 वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनें

कमजोर बुनियादी ढांचे के कारण देश को नुकसान होता है, इसलिए देश असाधारण स्तर पर काम कर रहा है और नए जलमार्गों या नए स्थानों को समुद्री विमानों से जोड़ने का काम कर रहा है। भारतीय रेलवे भी तेजी से आधुनिक रंग को अपना रहा है।

देश ने तय किया है कि 75वीं आजादी के मौके पर देश 75 हफ्ते तक अमृत महोत्सव मनाएगा। आने वाले समय में देश के कोने-कोने को जोड़ने के लिए 75 वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनें चलेंगी। सरकार जल्द ही 100 लाख करोड़ रुपये की नई गतिशक्ति योजना शुरू करेगी, जो देश के लिए एक नई राष्ट्रीय बुनियादी ढांचा योजना होगी और देश को समग्र बुनियादी ढांचा प्रदान करेगी।

इसके माध्यम से स्थानीय उद्यमियों को वैश्विक बाजार से जोड़ा जाएगा जिससे आने वाले समय में उन्हें अर्थव्यवस्था के विस्तार के अवसर मिलेंगे और वे वैश्विक प्रतिस्पर्धा के लिए तैयार होंगे।

16. नागरिक कैशलेस और स्वच्छता को अपनायें

देश डिजिटल हो रहा है, जिसके लिए कम से कम नकद लेनदेन करना हमारा कर्तव्य होना चाहिए। उन्होंने सिंगल यूज प्लास्टिक के इस्तेमाल को रोकने की अपील की और नदियों को प्रदूषित न करने और समुद्र तटों को साफ रखने की अपील की।

Conclusion

दोस्तों मुझे उम्मीद है कि 75वाँ स्वतंत्रता दिवस : लाल किले से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अहम घोषणाएं लेख आप लोगों के लिये बहुत हेल्पफुल रहा होगा। आपको यह लेख कैसा लगा हमें कमेंट्स बॉक्स में कमेंट्स करके जरूर बतायें। साथ ही इस लेख को उन लोगों के साथ share करना न भूलें, जो लोग इसके बारे में जानना चाहतें हैं। धन्यवाद!

Leave a Comment

x