Azithromycin Tablet Uses in Hindi | Side Effects of Azithromycin

Azithromycin Tablet Uses in Hindi – एज़िथ्रोमाइसिन एक प्रिस्क्रिप्शन दवा है। इसका उपयोग कान के संक्रमण, नाक के संक्रमण, गले के संक्रमण और त्वचा के संक्रमण के उपचार में किया जाता है। इन सबके अलावा इस दवा का उपयोग टॉन्सिल, निमोनिया, 500 टाइफाइड बुखार और सूजाक आदि रोगों के इलाज में भी किया जाता है। सरल भाषा में कहा जाए तो इस दवा का उपयोग बैक्टीरिया के विकास को रोकने के लिए किया जाता है।

Azithromycin Tablet Uses in Hindi
Azithromycin Tablet Uses in Hindi

एज़िथ्रोमाइसिन टैबलेट एक डॉक्टर की देखरेख में लिया जाता है क्योंकि मरीज के ठीक होने के बाद डॉक्टर यह निर्धारित कर सकता है कि मरीज के शरीर में मौजूद सभी बैक्टीरिया मर गए हैं या नहीं। यदि इस दवा को लेने के बाद रोगी की स्थिति में सुधार होता है, तो डॉक्टर से परामर्श करके ही इस दवा को लेना बंद कर दें, अन्यथा रोगी के शरीर में जीवाणु संक्रमण जन्म ले सकता है।

Also Read: बीकासूल कैप्सूल खाने से क्या फायदे होते हैं?

यदि रोगी एज़िथ्रोमाइसिन टैबलेट का अधिक मात्रा में सेवन करता है या इसके सेवन में कोई गलती की जाती है, तो उसे दस्त, उल्टी, बुखार, चक्कर आना और पेट के निचले हिस्से में दर्द जैसी अन्य समस्याओं का अनुभव हो सकता है। एज़िथ्रोमाइसिन टैबलेट जन औषधि कंपनी द्वारा निर्मित है। अगर हम इसकी कीमत (Azithromycin 500 Price) की बात करें तो यह ₹85/3 टैबलेट है।

Contents hide

Azithromycin Tablet Uses in Hindi (एजिथ्रोमायसिन टैबलेट का उपयोग)

एज़िथ्रोमाइसिन टैबलेट का प्रयोग निम्नलिखित बीमारियों के लिए किया जाता है: डॉक्टर निम्नलिखित बीमारियों के इलाज के लिए इस दवा को लेने की सलाह देते हैं। आइए जानते हैं इन सभी बीमारियों के बारे में…

  • एज़िथ्रोमाइसिन टैबलेट मुख्य रूप से संक्रमण का इलाज करने के लिए प्रयोग किया जाता है। उदाहरण के लिए कान, नाक, गले, त्वचा और त्वचा आदि का संक्रमण।
  • ऊपरी श्वसन पथ के संक्रमण – इस दवा का उपयोग ऊपरी शरीर के संक्रमण (जैसे, ग्रसनी, स्वरयंत्र, साइनस और श्वासनली का संक्रमण) के लिए किया जाता है।
  • लोअर रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन – इस दवा का उपयोग शरीर के लोअर रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन के मामले में किया जाता है।
  • यह दवा “एज़िथ्रोमाइसिन यूज़ इन हिंदी” ब्रोंकाइटिस और साइनसाइटिस के उपचार में भी बहुत उपयोगी है।
  • इन सभी बीमारियों के अलावा इस दवा का इस्तेमाल टॉन्सिल, निमोनिया, टाइफाइड बुखार और सूजाक के इलाज में भी किया जाता है।

यदि रोगी को किसी भी प्रकार का संक्रमण है तो इस दवा का प्रयोग डॉक्टर की सलाह के बाद ही करना चाहिए।

Also Read: Zincovit Tablet Uses in Hindi

How to Take Azithromycin Tablet in Hindi (एजीथ्रोमाइसिन टैबलेट कैसे लें)

  • एज़िथ्रोमाइसिन गोलियों और निलंबन के रूप में आता है जिसे मुंह से लिया जा सकता है, आंखों की बूंदों और इंजेक्शन के रूप में। हर सूत्र को यहां सूचीबद्ध नहीं किया जा सकता है।
  • डॉक्टर के निर्देशानुसार एज़िथ्रोमाइसिन की गोलियां और सिरप मुंह से पानी के साथ लेना है और इसे रोजाना भोजन के साथ या भोजन के बाद भी लिया जा सकता है। सर्वोत्तम परिणामों के लिए एज़िथ्रोमाइसिन को समान समय अंतराल पर लिया जाना चाहिए।
  • यह सुनिश्चित करने के लिए कि दवा समान रूप से मिश्रित है, लेने से पहले सिरप को अच्छी तरह से हिलाएं। इस दवा की सही मात्रा लेने के लिए मापने वाले चम्मच का प्रयोग करें।
  • एज़िथ्रोमाइसिन आई ड्रॉप्स: पहले 2 दिनों के लिए प्रभावित आंख में एक बूंद डाली जाती है और फिर अगले 5 दिनों के लिए रोजाना एक बूंद डाली जाती है।
  • यहां तक ​​​​कि अगर सभी लक्षण चले गए हैं, तब तक एज़िथ्रोमाइसिन लेना जारी रखें जब तक कि पूरी खुराक समाप्त न हो जाए।
  • फार्मासिस्ट द्वारा प्रदान की गई रोगी सूचना पत्रक को पढ़कर आपको अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से और प्रश्न पूछने चाहिए।

Azithromycin Side Effects In Hindi (एजीथ्रोमाइसिन टैबलेट के दुष्प्रभाव)

अज़िथ्रोमाइसिन का सेवन गलत तरीके से करने से मरीज को निम्नलिखित दुष्प्रभाव होने का खतरा हो सकता है। किसी भी दुष्प्रभाव या दुष्प्रभाव के मामले में, तुरंत इस दवा को लेना बंद कर दें और डॉक्टर से सलाह लें। आइए जानते हैं इस दवा के साइड-इफेक्ट्स के बारे में।

  • उल्टी, दस्त या बुखार इस दवा के हल्के दुष्प्रभाव हैं। इस अवस्था में आप दवा लेना बंद कर देते हैं।
  • अगर किसी मरीज को सिरदर्द या चक्कर आता है तो उसे भी इस दवा का सेवन बंद कर देना चाहिए।
  • एज़िथ्रोमाइसिन टैबलेट से त्वचा की एलर्जी और पेट के निचले हिस्से में दर्द भी एक दुष्प्रभाव है।
  • अगर किसी मरीज की धड़कन तेज हो जाती है तो उसे ऐसी स्थिति में डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।
  • इस दवा को लेने के बाद कई रोगियों में गले में खराश, गहरे रंग का पेशाब और सूजन भी देखी गई है।

यदि रोगी इस दवा को डॉक्टर की देखरेख में और बिना किसी दोष के लेते हैं, तो इस दवा से होने वाले दुष्प्रभाव का खतरा कम होता है।

कुछ जरूरी सावधानियां

दोस्तों हर दवा लेने से पहले रोगी को कुछ सावधानियों का ध्यान रखना होता है। तो आज हम आपको एज़िथ्रोमाइसिन मेडिसिन से जुड़ी कुछ सावधानियों के बारे में बताएंगे। आइए जानते हैं इससे जुड़ी सावधानियों के बारे में…

  • यदि रोगी को वायरल संक्रमण (जैसे फ्लू, सामान्य सर्दी) है तो यह दवा काम नहीं करेगी।
  • स्तनपान कराने वाली और गर्भवती महिलाओं को एज़िथ्रोमाइसिन टैबलेट लेने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए।
  • लीवर और हृदय रोग के रोगियों को सावधानी बरतनी चाहिए या इस दवा को लेने से पहले डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।
  • पीलिया और सूजन आंत्र रोग से पीड़ित मरीजों को यह दवा नहीं लेनी चाहिए।
  • यदि रोगी को इस दवा में मौजूद एज़िथ्रोमाइसिन तत्व से एलर्जी है, तो उसे इसे नहीं लेना चाहिए क्योंकि सूजन या सांस लेने में कठिनाई हो सकती है।

एजिथ्रोमायसिन टैबलेट काम कैसे करती है?

कोई भी दवा लेने से पहले रोगी को यह पता होना चाहिए कि दवा कैसे काम करती है और हमारे स्वास्थ्य के लिए इस दवा का क्या कार्य है। जानने के लिए नीचे पढ़ें…

  • यह एक बैक्टीरियोस्टेटिक दवा है और इस दवा की क्रिया शरीर में प्रोटीन के उत्पादन को रोकना है। प्रोटीन के उत्पादन को रोकने से शरीर में बैक्टीरिया की संख्या नहीं बढ़ती है।
  • शरीर में जो भी बैक्टीरिया मौजूद होते हैं, अगर उन्हें प्रोटीन ठीक से नहीं मिल पाता है, तो वे कुछ समय बाद धीरे-धीरे मर जाते हैं क्योंकि बैक्टीरिया प्रोटीन के बिना जीवित नहीं रह सकते। सरल भाषा में कहा जाए तो इस दवा का काम बैक्टीरिया को प्रोटीन नहीं देना है।

Azithromycin Tablet Dosage In Hindi (एजीथ्रोमाइसिन टैबलेट की खुराक)

एज़िथ्रोमाइसिन टैबलेट का प्रयोग करने से पहले रोगी को निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना चाहिए।

  • एज़िथ्रोमाइसिन टैबलेट 100 ग्राम, 250 मिलीग्राम और एज़िथ्रोमाइसिन 500 मिलीग्राम के रूप में आता है।
  • एज़िथ्रोमाइसिन टैबलेट रोगी के वजन और उम्र पर निर्भर करती है।
  • इस दवा को खरीदते समय, इसकी समाप्ति तिथि और टैबलेट के पीछे लिखे निर्देशों को अवश्य पढ़ें।
  • वयस्कों और बुजुर्गों को सलाह दी जाती है कि वे 3 दिनों तक रोजाना 500 मिलीग्राम की एक दवा लें।
  • उसके बाद वयस्कों और बुजुर्गों को 4 दिनों तक रोजाना 250 मिलीग्राम की एक दवा लेने की सलाह दी जाती है।
  • दवा को भोजन से एक घंटे पहले या भोजन के 2 घंटे बाद खाली पेट लेना चाहिए।
  • लेकिन इस दवा को लेने के 2 घंटे पहले और 2 घंटे बाद एंटासिड न लें।
  • इस दवा को तब तक लें जब तक कि कोर्स पूरा न हो जाए (बीच में इसे अधूरा न छोड़ें)
  • इस दवा का उपयोग बंद करने से पहले डॉक्टर को सूचित करें।
  • कई बार ऐसा होता है कि रोगी गलती से दवा अधिक मात्रा में ले लेता है। ऐसे में मरीज को डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए क्योंकि ओवरडोज की स्थिति में डॉक्टर ही बता सकते हैं कि इस स्थिति में क्या करना चाहिए।

एजिथ्रोमायसिन टैबलेट स्टोरेज (How To Store Azithromycin)

इस दवा के कई अलग-अलग ब्रांड बाजार में उपलब्ध हैं। इसलिए हर दवा को स्टोर करने के नियम भी अलग-अलग होते हैं।

  • दवा के पैकेट को स्टोर करने से पहले उस पर दिए गए निर्देशों को पढ़ें।
  • इसे 10 से 30 डिग्री के तापमान पर संग्रहित किया जाता है।
  • इस टैबलेट को धूप और नमी जैसी जगहों से बचाएं।
  • इस दवा को फ्रीज या ठंडी जगह पर रखना न भूलें।
  • एजिथ्रोमाइसिन दवा को छोटे बच्चों और जानवरों से दूर रखें।

एजिथ्रोमायसिन दवा के विकल्प क्या हैं (Azithromycin Tablet Substitutes)

निम्नलिखित दवाएं एज़िथ्रोमाइसिन दवा के विकल्प के रूप में उपयोग की जाती हैं।

  • ऐजीवेंट 200 एमजी सस्पेंशन
  • अज़िफ़ास्ट 250 एमजी टैबलेट (Azifast 250 MG Tablet)
  • अज़क्स 100 एमजी सस्पेंशन
  • एविंडो 2% जेल
  • एज़ी ड्राई सिरप
  • अज़िथ्रल 200 एमजी सिरप
  • अज़िवोक 200 एमजी सस्पेंशन
  • अज़िसिप 250 एमजी टैबलेट (Azicip 250 MG Tablet)
  • अज़िमैक्स ड्राई सिरप
  • ज़ायसिन 200 एमजी रेडिमिक्स

Azithromycin Tablet Interaction

यदि रोगी को संक्रमण के अलावा कोई अन्य रोग है और रोगी उस रोग के उपचार के लिए कोई अन्य दवा ले रहा है तो इस बारे में डॉक्टर को सूचित करें अन्यथा यह दवा अन्य दवाओं के साथ परस्पर क्रिया कर सकती है और रोगी को गंभीर दुष्प्रभाव हो सकती है। हो सकता है।

शराब के साथ बातचीत

शराब के साथ इस दवा की परस्पर क्रिया ज्ञात नहीं है।

ड्रग इंटरेक्शन

एज़िथ्रोमाइसिन टैबलेट को निम्न में से किसी भी दवा के साथ न लें:

  • ड्रोपेरिडोल
  • मेथाडोन
  • नेफ्लिनवीर
  • क्लेरिथ्रोमाइसिन
  • वारफरिन
  • कौमाडिन
  • सीतालोप्राम
  • क्लोरोक्विन
  • मोक्सीफ्लोक्सासिन
  • पेंटामिडाइन

रोग के साथ पारस्परिक क्रिया

यदि रोगी को निम्न में से कोई भी रोग हो तो उसे एज़िथ्रोमाइसिन दवा नहीं लेनी चाहिए।

  • दिल की बीमारी
  • गुर्दे की बीमारी
  • जिगर की बीमारी
  • कंजेस्टिव हार्ट
  • आंतों की सूजन
  • पीलिया

Azithromycin Tablet Uses in Hindi: FAQs

1. क्या Azithromycin Tablet का सेवन करना सुरक्षित है?

यदि डॉक्टर की सलाह लेकर इस दवा को लिया जाए तो यह नुकसान नहीं करेगी।

2. एजिथ्रोमायसिन टैबलेट किस काम आती है? (Azithromycin Uses In Hindi)

यह काम, नाक, गले, त्वचा, फेफड़े और ऊपरी श्वसन तंत्र के संक्रमण को ठीक करने के काम आती है।

3. Tablet Azithromycin के साइड इफेक्ट्स क्या है?

चक्कर आना, सिरदर्द, बुखार, दस्त और एलर्जी आदि इस दवा से होने वाले साइड-इफेक्ट्स है।

4. एजिथ्रोमायसिन टैबलेट को भोजन के बाद खाना चाहिए या भोजन से पहले खाना चाहिए?

भोजन से कुछ समय पहले या भोजन के कुछ समय बाद इस दवा को खाना चाहिए।

5. Azithromycin 500 In Hindi को दूध के साथ लेना चाहिए या पानी के साथ?

पानी के साथ लेने से यह दवा बेहतर काम करेगी।

6. एजिथ्रोमायसिन टैबलेट का असर कितनी देर में शुरू होता है?

2 से 3 घंटे में इस दवा का असर शुरू होना दिख जाता है।

7. यदि Azithromycin Tablet का असर न दिखें तो क्या करना चाहिए? 

फ्लू और सर्दी होने पर यह दवा ठीक प्रकार से काम नहीं करती है।

8. एजिथ्रोमायसिन टैबलेट को स्टोर कैसे करें?

इसको 10 से 30 डिग्री के रूप टेम्प्रेचर पर इसको स्टोर किया जाता है।

9. क्या Azithromycin In Hindi भारत में लीगल है?

हाँ, यह मेडिसिन भारत में लीगल है। भारत के आलावा जापान, अमेरिका और अन्य देशों में भी यह लीगल है।

10. गुर्दे पर एजिथ्रोमायसिन टैबलेट का क्या असर पड़ता है?

इसका गुर्दे पर हल्का असर पड़ता है लेकिन गुर्दे की बीमारी वाले मरीज इस दवा को डॉक्टर की देख-रेख में लें।

Disclaimer : यह लेख केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए हैं। यहाँ पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए। चिकित्सा परीक्षण और उपचार के लिए हमेशा एक योग्य चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए। HindiQueries.Com इस जानकारी की जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Conclusion

मैं उम्मीद करता हूँ कि अब आप लोगों को Azithromycin Tablet Uses in Hindi से जुड़ी सभी जानकरियों के बारें में पता चल गया होगा। यह लेख आप लोगों को कैसा लगा हमें कमेंट्स बॉक्स में कमेंट्स लिखकर जरूर बतायें। साथ ही इस लेख को दूसरों के जरूर share करें, ताकि सबको इसके बारे में पता चल सके। धन्यवाद!

Leave a Comment

x