विद्यां ददाति विनयं श्लोक का अर्थ (Vidya Dadati Vinayam Sanskrit Shlok Hindi Arth)

इस लेख में हम संस्कृत के श्लोक विद्यां ददाति विनयं (Vidya Dadati Vinayam) का अर्थ जानेंगे। यदि आप भी संस्कृत के श्लोक विद्यां ददाति विनयं (Vidya Dadati Vinayam) का अर्थ जानना चाहते हैं, तो इस लेख को पूरा जरूर पढ़ें।

विद्यां ददाति विनयं श्लोक (Vidya Dadati Vinayam Sanskrit Shlok)

विद्यां ददाति विनयं श्लोक (Vidya Dadati Vinayam Sanskrit Shlok)
विद्यां ददाति विनयं, विनयाद् याति पात्रताम्।
पात्रत्वात् धनमाप्नोति, धनात् धर्मं ततः सुखम्।।

हिन्दी में अर्थ :- विद्या हमें विनम्रता देती है अर्थात् हमें विनम्र बनाती है, विनम्रता से योग्यता प्राप्त होती है और योग्यता से हमें धन प्राप्त होता है जिससे हम धर्म के कार्य करते हैं और हमें सुख की प्राप्ति होती है।

Vidya Dadati Vinayam in English

Vidya Dadati Vinayam, Vinaya yaati Patrataam ।
Patratvad Dhanamaapnoti, Dhanad Dharmam Tatah Sukham ।।

महत्वपूर्ण लिंक
* Raksha Bandhan 2021 | रक्षाबंधन कब है?
* हनुमान जी की आरती
* हनुमान चालीसा हिंदी में
* हाइट कैसे बढ़ाये पूरी जानकारी हिन्दी में

अंतिम प्रक्रिया

मैं उम्मीद करता हूँ कि अब आप लोगों को संस्कृत के श्लोक विद्यां ददाति विनयं (Vidya Dadati Vinayam) का अर्थ से जुड़ी सभी जानकरियों के बारें में पता चल गया होगा। यह लेख आप लोगों को कैसा लगा हमें कमेंट्स बॉक्स में कमेंट्स लिखकर जरूर बतायें। साथ ही इस लेख को दूसरों के जरूर share करें, ताकि सबको इसके बारे में पता चल सके। धन्यवाद!

Leave a Comment

x