सयुंक्त वाक्य के उदहारण | Sanyukt Vakya Ke Udaharan

सयुंक्त वाक्य के उदहारण: दोस्तों यदि आप भी जानना चाहते हैं कि सयुंक्त वाक्य किसे कहते हैं (Sanyukt Vakya Kise Kahate Hain), और सयुंक्त वाक्य के उदहारण (Sanyukt Vakya Ke Udaharan) क्या-क्या हैं, तो इस पोस्ट को अंत तक पढ़े आपको सयुंक्त वाक्य से सम्बंधित सारी जानकरियां प्राप्त हो जाएँगी।

सयुंक्त वाक्य की परिभाषा

सयुंक्त वाक्य के उदहारण | Sanyukt Vakya Ke Udaharan
सयुंक्त वाक्य के उदहारण | Sanyukt Vakya Ke Udaharan

ऐसा वाक्य जिसमे दो या दो से अधिक उपवाक्य हो एवं सभी उपवाक्य प्रधान हों, ऐसे वाक्य को सयुंक्त वाक्य कहते हैं। सयुंक्त वाक्य में दो या दो से अधिक सरल अथवा मिश्र वाक्य अव्ययों द्वारा सयुंक्त होते हैं। ये उपवाक्य एक दूसरे पर आश्रित नहीं होते एवं सयोंजक अव्यय उन वाक्यों को मिलाते हैं।

सयुंक्त वाक्य में दो या दो से अधिक सरल वाक्यों को और, एवं, तथा, या, अथवा, इसलिए, अतः, फिर भी, तो, नहीं तो, किन्तु, परन्तु, लेकिन, पर आदि का प्रयोग करके जोड़ा जाता है।

सयुंक्त वाक्य के उदहारण (Sanyukt Vakya Ke Udaharan)

1. मीना बहुत बीमार थी अतः स्कूल नहीं आयी।

जैसा की आप ऊपर दिए गए उदाहरण मैं देख सकते हैं, यहाँ एक वाक्य में दो सरल वाक्य हैं। इन दो सरल वाक्यों को अतः अव्यय सयोंजक से जोड़ा गया है।

जैसा की हम जानते हैं की सयुंक्त वाक्य में दो या दो से अधिक सरल वाक्य होते हैं एवं उन्हें अव्यय संयोजकों के द्वारा जोड़ा जाता है। अतः यह उदाहरण सयुंक्त वाक्य के अंतर्गत आएगा।

2. मैं आया और वह गया। 

ऊपर दिए गए उदाहरण में जैसा कि आप देख सकते हैं, की यहां एक वाक्य में दो स्वतंत्र सरल वाक्य हैं। इन दो सरल वाक्यों को अतः सांयजक से जोड़ा गया है।

जैसा की हम जानते हैं कि सयुंक्त स्वतंत्र वाक्य होते हैं एवं उन स्वतंत्र वाक्यों को अव्यय संयोजकों से जोड़ा जाता है। अतः यह उदाहरण अंतर्गत आएगा।

3. मेरी पैर पर लग गयी और दर्द होने लगा। 

जैसा की आप ऊपर दिए गए उदाहरण में देख सकते हैं की यहां पर दो सरल स्वतंत्र वाक्यों को जोड़ा जा रहा है। यह दोनों वाक्यों को जोड़ने के लिए और संयोजक का प्रयोग किया गया है।

हम जानते हैं की सयुंक्त वाक्य में दो जुड़े हुए स्वतंत्र सरल वाक्य होते हैं जिन्हे अव्यय सयोंजकों द्वारा जोड़ा जाता है। अतः यह उदाहरण सयुंक्त वाक्य के अंतर्गत आएगा।

4. उसने बहुत परिश्रम किया किन्तु सफल नहीं हो सका। 

ऊपर दिए गए उदाहरण में जैसा की आप देख सकते है, एक पूर्ण वाक्य में किन्हीं दो स्वतंत्र सरल वाक्यों को रखा गया है। ये वाक्य एक दुसरे पर आश्रित नहीं हैं। इन दोनों वाक्यों को किन्तु अव्यय सयोंजक से जोड़ा गया है।

हम जानते हैं की सयुंक्त वाक्य में दो जुड़े हुए स्वतंत्र सरल वाक्य होते हैं जिन्हे अव्यय सयोंजकों द्वारा जोड़ा जाता है। अतः यह उदाहरण सयुंक्त वाक्य के अंतर्गत आएगा।

सयुंक्त वाक्य के कुछ अन्य उदाहरण :

  • वह सुबह गया और शाम को लौट आया।
  • दिन ढल गया और अन्धेरा बढ़ने लगा।
  • प्रिय बोलो पर असत्य नहीं।
  • मैंने बहुत परिश्रम किया इसलिए सफल हो गया।
  • मैं बहुत तेज़ दौड़ा फिर भी ट्रेन नहीं पकड़ सका।

Conclusion

मैं उम्मीद करता हूँ कि अब आप लोगों को सयुंक्त वाक्य किसे कहते हैं (Sanyukt Vakya Kise Kahate Hain), और सयुंक्त वाक्य के उदहारण (Sanyukt Vakya Ke Udaharan) क्या-क्या हैं, से जुड़ी सभी जानकरियों के बारें में पता चल गया होगा। यह लेख आप लोगों को कैसा लगा हमें कमेंट्स बॉक्स में कमेंट्स लिखकर जरूर बतायें। साथ ही इस लेख को दूसरों के जरूर share करें, ताकि सबको इसके बारे में पता चल सके। धन्यवाद!


यह भी पढ़े –

Leave a Comment

x