मेरा पढ़ाई में मन नहीं लगता क्या करूं? अपनायें ये 10 आसान उपाय

गूगल मेरा पढ़ाई में मन नहीं लगता क्या करूं, पढ़ाई में मन क्यों नहीं लगता, पढ़ाई में मन नहीं लग रहा, पढ़ाई में मन नहीं लगता तो क्या करना चाहिए, मेरा पढ़ाई में मन नहीं लगता क्या करूं?, Padhaai mein man kyon nahin lagta hai, Padhai me man na lage to kya kare, Padhai me man nahi lagta to kya kare, Padhne ke liye kya karna chahie

मेरा पढ़ाई में मन नहीं लगता क्या करूं? अपनायें ये 10 आसान उपाय
मेरा पढ़ाई में मन नहीं लगता क्या करूं? अपनायें ये 10 आसान उपाय

मेरा पढ़ाई में मन नहीं लगता क्या करूं?

अक्सर छात्रों की शिकायत रहती है कि उनका मन पढ़ाई में नहीं लगता। कहते हैं, ‘हम पढ़ने की बहुत कोशिश करते हैं लेकिन मन नहीं लगता और जब पढ़ने बैठते हैं तो मन भटकने लगता है।’ बस यह सब दिमाग का खेल है। अगर आप पढ़ाई करना चाहते हैं लेकिन किसी कारण से आपका ध्यान उस ओर नहीं जा रहा है तो सबसे पहले आपको मन नहीं लगने का कारण पता करना चाहिए।

“मेरा पढ़ाई में मन नहीं लगता क्या करूँ” यदि आपका भी यही प्रश्न है? तो हम आपको बता दें कि पढ़ाई जीवन के लिए बहुत जरूरी है, क्योंकि पढ़ाई से ही शिक्षा मिलती है। शिक्षा के बिना व्यक्ति जीवन में कुछ नहीं कर सकता, जबकि शिक्षा प्राप्त कर ऐसे कार्य किए जा सकते हैं, जिनके बारे में लोग सोचते भी नहीं हैं। शिक्षा मानव जीवन के लिए सबसे महत्वपूर्ण ज्ञान है, जिसे सभी मनुष्यों को ग्रहण करना चाहिए।

वर्तमान समय में बढ़ती हुई जनसंख्या अनेक नए क्षेत्रों का विकास कर रही है। इसीलिए बढ़ती जनसंख्या के कारण किसी भी स्थान पर नौकरी पाना या डिग्री प्राप्त करना भी बहुत मुश्किल हो जाता है। इसके लिए काफी मेहनत करनी पड़ती है, काफी पढ़ाई करनी पड़ती है। लेकिन कुछ लोगों का पढ़ाई में मन नहीं लगता है।

वर्तमान समय में कोई भी काम करने के लिए आपके पास कोई भी काम करने के लिए शिक्षा होनी चाहिए। आपके पास डिग्री होनी चाहिए। शुरुआत में स्कूल के समय से ही प्रतियोगिता शुरू हो जाती है। स्कूल में पास होने के लिए परीक्षा आयोजित की जाती है, उस परीक्षा में अच्छे अंक लाने वालों को पास कर दिया जाता है।

इसलिए हर तरह की फील्ड और हर तरह की नौकरी में भर्ती होने के लिए पढ़ाई करना बहुत जरूरी है, लेकिन कुछ लोगों का पढ़ाई में मन नहीं लगता। मन विचलित हो जाता है या उनका ध्यान कहीं और भटक जाता है।

बहुत कोशिश करने के बाद भी उनका मन पढ़ाई में नहीं लग पाता है, इसलिए आज के इस लेख में हम आपको विस्तार से बताएंगे कि पढ़ाई में मन नहीं लगता तो क्या किया जा सकता है, क्या उपाय हैं, उनके बारे में। विस्तार से जानेंगे।

ऐसे ही कई कारणों से हम पढ़ाई में ध्यान नहीं लगा पाते हैं। लेकिन आज इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे तरीकों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें अपने जीवन में अपनाने से आप ज्यादा फोकस के साथ पढ़ाई कर पाएंगे।

पढ़ाई में मन नहीं लगने के 10 सामान्य कारण

  1. दबाव में पढ़ाई
  2. अध्ययन के लिए उचित वातावरण का अभाव
  3. अध्ययन के लिए उचित समय का अभाव
  4. विषय या विषय को न समझना
  5. उचित अध्ययन सामग्री का अभाव
  6. उचित मार्गदर्शन नहीं मिल रहा है
  7. अत्यधिक थकान या अन्य गड़बड़ी
  8. किसी और चीज में दिलचस्पी लेना
  9. शारीरिक या मानसिक बीमारी
  10. इच्छा शक्ति और एकाग्रता की कमी

मेरा पढ़ाई में मन नहीं लगता क्या करूं? अपनायें ये 10 आसान उपाय

1. अध्ययन (Study) को महत्व दें

खुद को याद दिलाएं कि आप क्यों पढ़ रहे हैं। अच्छी पढ़ाई के बाद मिलने वाले अच्छे नतीजों के बारे में सोचें। यह आपको पढ़ाई के महत्व की याद दिलाएगा। एक बार जब आप किसी चीज के महत्व को जान जाते हैं, तो आप उसे और अधिक महत्व देने लगते हैं। अपने मन-बुद्धि से कह दो कि अब तुम्हें पूरा ध्यान पढ़ाई पर लगाना है। जब आपका मन आपके आदेश का पालन करने लगेगा, तो सब कुछ अपने आप व्यवस्थित हो जाएगा।

2. अध्ययन (Study) के उद्देश्य को जानना

आप हमें क्यों पढ़ा रहे हैं? पढ़कर हम क्या करेंगे? ऐसे में आपको पढ़ाई के महत्व या पढ़ाई के उद्देश्य को जानना होगा। तभी आप समझ पाएंगे कि पढ़ाई आपके लिए कितनी जरूरी है। आप पढ़ाई करके क्या कर सकते हैं? यह सब जानने के बाद आपका मन पढ़ाई में लग जाएगा।

आमतौर पर हम पढ़ाई का मुख्य उद्देश्य नहीं जानते हैं, इसलिए पढ़ाई में मन नहीं लगता है। हमें यह ध्यान रखना चाहिए कि आज के समय में पढ़ाई ही सब कुछ है बिना पढ़ाई के हम कुछ नहीं कर सकते। अध्ययन करने से ही व्यक्ति अनेक डिग्रियां प्राप्त करता है और उसी के आधार पर श्रेष्ठ कार्य करता है।

यह भी जानें: शेयर मार्केट क्या है?

3. पढ़ते समय हाथ का प्रयोग (Use of hand while reading)

पढ़ते समय अपने हाथ का उपयोग करना बहुत महत्वपूर्ण होता है, क्योंकि आपकी आँखें स्वाभाविक रूप से गति की ओर आकर्षित होती हैं। इसलिए एक गाइड के रूप में अपने हाथ का उपयोग करने से आपको पढ़ाई में अधिक शामिल/जुड़े रहने में मदद मिलेगी। पढ़ते समय अपनी उंगली को स्थिर गति से बाएं से दाएं घुमाकर आप अपनी एकाग्रता में आसानी से सुधार कर सकते हैं। पाठ पर फ़ोकस बढ़ाने और शब्दों का अनुसरण करने के लिए अपनी उंगली या पेंसिल या बुकमार्क का उपयोग करना बहुत उपयोगी है। यह उन मामलों में भी मदद करता है जब अध्ययन के दौरान ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई होती है और आप एक ही पंक्ति को कई बार दोबारा पढ़ते हैं।

4. पढ़ाई में मन लगाने के लिए मेडिटेशन करें

मेडिटेशन करने से आपका दिमाग शांत रहता है और आपकी एकाग्रता भी बढ़ती है और इससे आप पढ़ाई पर ध्यान दे पाते हैं। इसलिए आपको हर रोज कम से कम 10 से 15 मिनट तक मेडिटेशन करना है।

5. इन चीजों से दूर रहो

पढ़ाई करते समय उन सभी चीजों से दूर रहें जिनसे आपका समय बर्बाद होता है या ऐसी चीजें जो आपको विचलित करती हैं, जैसे कि मोबाइल या टीवी, सोशल मीडिया, दोस्त या ऐसी चीजें जो आपको परेशान करती हैं ताकि आप अच्छी तरह से पढ़ाई कर सकें। मन लगाकर पढ़ाई कर सकते हैं।

6. नियमित ब्रेक लें

पढ़ाई के दौरान नियमित ब्रेक लेकर आप अपनी एकाग्रता में सुधार कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, यदि आपके पास पढ़ने के लिए बहुत कुछ है, तो 15 से 20 मिनट तक पढ़ने के बाद छोटे-छोटे ब्रेक लें। यह ब्रेक एक मिनट से भी कम का होगा। ये ब्रेक मेमोरी पावर में सुधार करते हुए भयानक ज़ोनिंग-आउट प्रभाव से बचने में भी मदद कर सकते हैं। ध्यान रहे, ब्रेक के दौरान ईमेल वगैरह चेक न करें या कॉल रिसीव न करें। अध्ययन के लिए अपने समय का एक हिस्सा समर्पित करके, सभी विकर्षणों से बचते हुए, आप अधिक से अधिक विषयों को कवर कर सकते हैं।

7. सही जगह का चुनाव करें

आमतौर पर हम सभी पढ़ने के लिए कोई भी जगह चुनते हैं लेकिन हमें पढ़ाई के लिए ऐसी जगह चुननी चाहिए जहां शांति हो, पर्यावरण अच्छा हो और मन अच्छा लगता हो। तब पढ़ाई में मन लगेगा।

कभी-कभी ऐसा होता है कि हमारे पास पढ़ने के लिए एक जगह होती है जहां हमारे साथ टेबल बेंच लगी होती है, कमरे का माहौल अच्छा होता है और शांति होती है, लेकिन फिर भी हमारा पढ़ाई में मन नहीं लगता है, ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जिस टेबल पर आप बैठते हैं। अध्ययन।

उस किताब के अलावा दुनिया भर की चीजें रखी जाती हैं, इसलिए टेबल पर बैठने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि जरूरत से ज्यादा सामान न हो, सिर्फ पढ़ाई से जुड़ा सामान्य सामान ही उस टेबल पर रखा हो।

8. भीड़ भरे या शोरगुल वाले माहौल में अपनाएं ये ट्रिक (Study Trick)

जब आप भीड़ भरे या शोर भरे वातावरण में पढ़ रहे हों, तो अपनी पुस्तक के ऑडियोबुक संस्करण को सुनें और वाक्यों का पालन करें। यह न केवल पृष्ठभूमि के शोर को खत्म करने में आपकी मदद करता है बल्कि आपके उच्चारण कौशल में भी सुधार करता है। यह टोटका बहुत ही कारगर है। लेकिन एक नुकसान यह है कि यह आपके पढ़ने की गति को धीमा कर देगा।

9. समझ को प्राथमिकता दें

विषय को समझना ज्यादा जरूरी है। आप हर दिन कितना पढ़ रहे हैं, इसका रिकॉर्ड रखें, लेकिन पढ़ने की गति को समझने के बजाय पढ़ने को प्राथमिकता न दें। पढ़ाई के दौरान आप एक और तरकीब अपना सकते हैं। इसके तहत आप पढ़ाई के दौरान एंबियंट नॉइज या लो-फाई या लो-फाई म्यूजिक बिना लिरिक्स के सुन सकते हैं। अंत में तरह-तरह की किताबें पढ़ते रहें। पुस्तकों की केवल एक शैली तक सीमित न रहें।

10. अध्ययन समय सारणी

अक्सर हम कुछ लोगों को दिन-रात किताबें ढोते हुए देखते हैं और हम सोचते हैं कि वे दिन-रात पढ़ते हैं। लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है, ऐसे कोई पढ़ाई नहीं कर सकता, वह सिर्फ दिखावा करते हैं। कुछ समय पढ़ते हैं तो कुछ समय बाद उनका ध्यान हट जाता है।

इसलिए आपको पढ़ाई का एक निश्चित समय निर्धारित करना होगा, पढ़ाई का टाइम टेबल बनाना होगा तभी आप अच्छे से पढ़ाई कर पाएंगे कि पढ़ाई करके जीवन में आगे बढ़ने के लिए आपको एक निश्चित समय के अनुसार पढ़ाई करनी होगी। इसके लिए आपको एक टाइम टेबल बनाना होगा।

टाइम टेबल बनाने के लिए आपको तय करना है कि आप सुबह कितने बजे उठते हैं, आप कितने बजे नाश्ता करते हैं, आप कितने बजे फ्रेश होते हैं, आप कितने बजे खाना खाते हैं, कितने बजे नहाते हैं, कितने बजे काम करते हैं, आपके हिसाब से पढ़ाई के लिए समय देना होगा।

बीच-बीच में समय देने से आपके काम भी बनेंगे और एक निश्चित समय पढ़ाई में भी बीतेगा। इससे आप अपनी पढ़ाई पर ध्यान दे पाएंगे, क्योंकि बीच-बीच में काम भी करते रहेंगे और पढ़ाई भी करते रहेंगे। अगर आप लगातार कई घंटे किताबों को लेकर बैठे रहेंगे तो पढ़ाई बिल्कुल नहीं हो पाएगी।

मैं उम्मीद करता हूँ कि अब आप लोगों को मेरा पढ़ाई में मन नहीं लगता क्या करूं? इस सवाल का जवाब आपको इस लेख में पता चल गया होगा। यह लेख आप लोगों को कैसा लगा हमें कमेंट्स बॉक्स में कमेंट्स लिखकर जरूर बतायें। साथ ही इस लेख को दूसरों के जरूर share करें, ताकि सबको इसके बारे में पता चल सके। धन्यवाद!

Leave a Comment

x